सोनू सूद को बृह्ममुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने नोटिस भेजा गया है. ये नोटिस उनको जुहू स्थित एक रेजिडेंट बिल्डिंग को होटल बनाने और उसमें अवैध निर्माण को लेकर भेजा गया है. जुलाई में बीएमसी ने सोनू सूद को अपने जुहू होटल को वापस रेजिडेंट बिल्डिंग में बदलने और बिल्डिंग में किए गए अवैध निर्माण को हटाने के लिए कहा था. सोनू ने जुलाई में बीएमसी से कहा था कि वह खुद ही इस बिल्डिंग को रिनोवेट करेंगे. हालांकि, के-वेस्ट वार्ड ने पिछले महीने जारी एक नए बीएमसी नोटिस में कहा था कि सोनू ने अभी तक बिल्डिंग को रिनोवेट नहीं किया है.

बीएमसी ने जो नोटिस जारी किया है, उसमें सोनू सूद को संबोधित करते हुए लिखा है, “आपने अपने पत्र में कहा था… कि आपने बिल्डिंग की मौजूदा पहली से छठी मंजिल में रहने/खाने की गतिविधि बंद कर दी है और इसका उपयोग स्वीकार की गई प्लानिंग के अनुसार रेजिडेंट्स के लिए किया जाएगा. साथ ही आपने उस आवश्यक कार्य का भी उल्लेख किया है.”

बीएमसी के नोटिस में आगे लिखा है,”साथ ही आपने उल्लेख किया था कि जोड़ने/बदलने/पुनर्स्थापन के लिए आवश्यक कार्य प्रगति पर है … इस कार्यालय (बीएमसी का कार्यालयल) ने 20.10.2021 को साइट का निरीक्षण किया है और यह देखा गया है कि आपने अभी तक स्वीकृत योजना के अनुसार काम शुरू नहीं किया है.”

सोनू सूद ने दिया रिएक्शन

सोनू सूद  ने बीएमसी के इस नोटिस पर प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि उन्होंने होटल को फिर से रेजिडेंट बिल्डिंग में बदल दिया है. उन्होंने जुहू के एबी नायर रोड पर स्थित शक्ति सागर भवन को पहले ही एक होटल से रेजिडेंट बिल्डिंग में बदल दिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक सोनू ने कहा, “हम पहले ही इसे बदल चुके हैं. हमने बीएमसी को ब्योरा जमा कर दिया है और डॉक्यूमेंटशन की प्रक्रिया चल रही है. मैं कोई अवैध गतिविधि नहीं कर रहा हूं और यह स्वीकृत योजना के अनुसार एक आवासीय संरचना बनी रहेगी ”