प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये वित्तीय प्रौद्योगिकी पर इनफिनिटी-फोरम का उद्घाटन किया. इस फोरम में रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी सहित उद्योग जगत की कई प्रमुख हस्तियां शामिल हो रही हैं. फोरम का मकसद दुनियाभर की बिजनेस और टेक्नोलॉजी की प्रतिभाओं को एक मंच पर लाना है.

इनफिनिटी फोरम का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण कर रहा है. गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी और ब्लूमबर्ग आयोजन में सहयोग कर रहे हैं. दो दिन के इस आयोजन में 70 से अधिक देशों के प्रतिनिधि शिरकत कर रहे हैं.

InFinity Forum के मुख्य वक्ताओं में मलेशिया के वित्तमंत्री तेंगकू ज़फरुल-अज़ीज, इंडोनेशिया की वित्तमंत्री मुल्यानी इंद्रावती, रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी, कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ उदय कोटक, सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के अध्यक्ष एवं सीईओ मासायोशी सून, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सीईओ सुभाष गर्ग और आईबीएम कॉरपोरेशन के अध्यक्ष अरविंद कृष्ण सहित कई बड़ी हस्तियां शामिल हैं.

फिनटेक क्रांति का समय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि मुझे इस फोरम का उद्घाटन करते हुए बहुत खुशी हो रही है. उन्होंने कहा कि हम अपने अनुभवों और विशेषज्ञता को दुनिया के साथ साझा करने और उनसे सीखने में विश्वास करते हैं. हमारे डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर समाधान दुनियाभर के नागरिकों के जीवन में सुधार कर सकते हैं. अब इन फिनटेक पहलों को फिनटेक क्रांति में बदलने का समय आ गया है. एक क्रांति जो देश के हर एक नागरिक के वित्तीय सशक्तिकरण को प्राप्त करने में मदद करती है.