दिल्ली में जल्द ही वैक्सीन नहीं लेने वालों पर सार्वजनिक स्थानों पर रोक लग सकती है. खबर है कि हाल ही में हुई एक बैठक में यह प्रस्ताव रखा गया है. हालांकि, इस मुद्दे पर अभी अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है. कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के चलते अधिकारी कड़े कदम उठाने पर विचार कर रहे हैं. इसके अलावा कोरोना के खिलाफ वैक्सीन हासिल कर चुके लोगों को लॉटरी, नगद इनाम या प्रोत्साहन राशि भी दी जा सकती है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, दिल्ली में वैक्सीन नहीं लेने वालों की सार्वजनिक स्थानों पर 15 दिसंबर से एंट्री पर रोक लगाने का विचार किया जा रहा है. एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से लिखा, ‘सोमवार को हुई दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक में वैक्सीन हासिल नहीं करने वालों को 15 दिसंबर से सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश नहीं दिए जाने का प्रस्ताव दिया गया है. ओमिक्रॉन और कोरोना की अगली लहर को देखते हुए दिल्ली सरकार इसपर विचार कर रही है.’

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने एएनआई को बताया, ‘दिल्ली के स्कूलों में एंट्री के लिए शिक्षकों और स्टाफ के टीकाकरण को पहले ही अनिवार्य कर दिया गया है. जहां तक सार्वजनिक स्थानों पर वैक्सीन नहीं लेने वालों को रोकने का सवाल है, इसपर विचार किया जा रहा है. इस पर चर्चा की जाएगी और जैसे ही फैसला लिया जाएगा, इसके बारे में हम बताएंगे.’ सोमवार को हुई DDMA की बैठक में यह प्रस्ताव रखा गया है, लेकिन अगली बैठक में इसपर चर्चा होगी.

प्रस्ताव के अनुसार, 15 दिसंबर से दिल्ली मेट्रो, बस, शेयरिंग कैब, सिनेमाघरों, स्टेडियम, मॉल, धार्मिक स्थलों, पार्क, धरोहरों, रेस्त्रां और सरकारी कार्यालयों में एंट्री के लिए वैक्सीन का कम से कम एक डोज लेना अनिवार्य होगा. साथ ही इसमें कहा गया है कि मार्च 22 से इन स्थानों पर एंट्री के लिए दोनों डोज हासिल करना जरूरी होगा. अब तक करीब 1.40 करोड़ लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज लगवा लिया है. जबकि, दूसरा डोज लेने वालों की संख्या करीब 90 लाख है.