दिल्ली में प्रदूषण के मामले पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद प्रदेश सरकार ने गुरुवार को राज्य में सभी स्कूल अगले आदेश तक बंद करने का आदेश दे दिया है. प्रदेश के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने यह जानकारी दी.  डॉक्टरों ने लोगों को बहुत जरूरी काम होने पर ही बाहर निकलने की सलाह दी है.

उन्होंने बताया कि दिल्ली में वायु प्रदूषण की स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है. इस कारण बच्चों की सेहत को देखते हुए स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला लिया गया है.

आदेश के मुताबिक, सभी सरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद(एनडीएमसी), नगर निगम व दिल्ली कैंट बोर्ड के सभी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद रहने का आदेश दिया गया है. दिल्ली सरकार पहले भी वायु प्रदूषण बढ़ने के कारण स्कूलों को बंद करने के आदेश कई बार जारी कर चुकी है. केजरीवाल सरकार ने हाल ही में स्कूलों को खोलने की अनुमति दी थी.

बोर्ड संबंधी परीक्षाओं के कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं 

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्रदूषण के मद्देनजर दिल्ली के सभी स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे. हालांकि बोर्ड से संबंधित परीक्षाएं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही चलेंगी.

खतरनाक स्तर पर बना हुआ एक्यूआई

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में वायु प्रदूषण थमने का नाम नहीं ले रहा है. बीच में दो-तीन दिन सुधार के बाद दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता सूचकांक फिर डरावने स्तर पर पहुंच गया है. दिल्ली के आनंद विहार आईएसबीटी पर गुरुवार सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) ‘गंभीर’ श्रेणी में 448 दर्ज किया गया. इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी में धुंध छाई रही.