तमिलनाडु में शुक्रवार को मूसलाधार बारिश से 5 लोगों की मौत हो गई. बारिश के चलते राज्य में मरने वालों की संख्या 68 हो गई है. इस बीच मौसम विभाग (IMD) ने 2 दिसंबर तक दक्षिण भारत में और अधिक बारिश होने की चेतावनी दी है. अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक 1 नवंबर से अब तक पांच दक्षिणी राज्यों में 172 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें तमिलनाडु सबसे अधिक है. इसके बाद केरल में 48, आंध्र प्रदेश में 44 और कर्नाटक में 12 लोगों की मौत हुई है.

मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक श्रीलंकाई तट से दूर बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण लगातार बारिश हो रही है. समुद्र की सतह से ये करीब 1.5 किलोमीटर ऊपर तक है. वहीं 28 नवंबर 2021 के आसपास दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर एक नया कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है और इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और संभवत: 29 नवंबर को दक्षिण मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक दबाव के रूप में आगे बढ़ने की संभावना है.

अनुमान से अधिक बारिश

शुक्रवार को जारी आईएमडी के बारिश के आंकड़ों में कहा गया है कि 1 नवंबर से 25 नवंबर के बीच दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में 143.4% अधिक बारिश दर्ज की गई. जिसमें कर्नाटक और केरल में सामान्य से 110 फीसदी से अधिक बारिश हुई. तमिलनाडु, जहां आमतौर पर पश्चिमी तट पर मौजूद राज्यों की तुलना में इस मौसम में कम वर्षा होती है, वहां उत्तर-पूर्व मानसून के दौरान 70% अधिक वर्षा दर्ज की गई है, जो 1 अक्टूबर से शुरू हुई थी.

18 जिलों के लिए IMD का रेड अलर्ट

आईएमडी ने शुक्रवार को तमिलनाडु के पूरे तटीय क्षेत्र में 18 जिलों को रेड अलर्ट और तटीय क्षेत्रों से सटे जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. बीते दिन राज्य के 38 में से 37 जिलों में भारी बारिश हुई है और ज्यादातर जगहों पर स्कूल और कॉलेज बंद रहे. राज्य के राजस्व और आपदा मंत्री के. रामचंद्रन ने कहा कि बारिश के चलते पांच लोगों की मौत अरियालुर, डिंडीगुल, शिवगंगा और तिरुवनम्माली में हुई है. उन्होंने कहा कि 10,503 लोगों को सरकारी राहत शिविरों में पहुंचाया गया है.