बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत  की मुश्किलें एक बार फिर से बढ़ने वाली है. दरअसल, कृषि कानूनों के वापस होने के बाद सिख समुदाय को लेकर विवादित टिप्पणी करने के मामले में मुम्बई पुलिस ने कंगना रनौत के खिलाफ मामला दर्ज किया है. कंगना के खिलाफ यह मामला मुम्बई के खार पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 295(a) यानी सिख समुदाय की भावनाओं को आहत करने और उनके खिलाफ विवादित टिप्पणी करने को लेकर दर्ज किया गया है.

दरअसल, अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में सिख समुदाय के एक डेलीगेशन ने कंगना रनौत के खिलाफ मामला दर्ज करने को लेकर सोमवार को पहले खार पुलिस स्टेशन में सीनियर इंस्पेक्टर से मुलाकात की थी और उसके बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल से मुलाकात की थी. मामले की गंभीरता को देखते हुए गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने मुम्बई पुलिस से इस मामले में केस दर्ज करने का आदेश दिया था.

गृहमंत्री के आदेश के बाद दर्ज हुआ मामला

गृहमंत्री के आदेश के बाद मुम्बई पुलिस ने खार पुलिस स्टेशन में कंगना रनौत के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मामला दर्ज होने के बाद मुम्बई पुलिस कंगना रनौत को कभी भी पूछताछ के लिए बुला सकती है.

लगातार विवादों में चल रही हैं कंगना रनौत

बता दें कि इसके पहले भी कंगना रनौत आजादी और महात्मा गांधी को लेकर दिए गए बयानों के चलते लगातार विवादों में रही हैं. कंगना ने एक बयान में यह कहा था कि देश को आजादी 2014 में मिली, जिसको लेकर काफी विवाद हुआ था. इतना ही नहीं, महात्मा गांधी को लेकर उन्होंने कहा था कि दोनों गाल आगे करने से आजादी नहीं भीख मिलती है. इस बयान पर भी जबरदस्त हंगामा हुआ था. अब देखना यह अहम होगा कि सिख समुदाय को लेकर विवादित टिप्पणी करने के मामले में मुम्बई पुलिस कंगना को कब पूछताछ के लिए बुलाती है.