प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था और बैंकिंग प्रणाली में विकास का उल्लेख करते हुए कहा कि बैंकिंग सेक्टर में तेजी से सुधार हुआ है. आज बैंकिंग सिस्टम में देश के गरीब से गरीब आदमी तक की पहुंच बनी है.

प्रधानमंत्री मोदी ने क्रिएटिंग सिनर्जिज फॉर सीमलेस क्रेडिट फ्लो एंड इकोनॉमिक ग्रोथ पर कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि जब बैंकों से पैसे लेकर कोई भाग जाता है तो काफी चर्चा होती है, लेकिन जब सरकार पैसे वापस लाती है तो ज्यादा चर्चा नहीं होती.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले छह-सात वर्षों में हुए सुधारों ने आज बैंकिंग क्षेत्र को मजबूत स्थिति में ला दिया है. बैंकों की वित्तीय स्थिति में सुधार हुआ है. उन्होंने कहा कि हमने बैंकों की एनपीए समस्या का समाधान किया है, बैंकों में नई पूंजी डाली है, दिवालिया संहिता लेकर आए और ऋण वसूली न्यायाधिकरण को मजबूत किया है.

उन्होंने कहा कि बैंकों ने पांच लाख करोड़ रुपये से अधिक के फंसे हुए ऋण वसूले हैं. हमने बैंकों के NPAs को एड्रेस किया, बैंकों में फिर से निवेश किया और के ढांचे में सुधार किया. इसकी वजह से बैंकों की स्थिति बेहतर हो रही है.