शेयर बाजारों की बुधवार को भी शुरुआत काफी धीमी रही. Sensex 60,322 कल के बंद स्‍तर से 151 अंक नीचे खुला. Asian Paint, NTPC, Maruti समेत दो दर्जन से ज्‍यादा शेयरों में तेजी देखी गई. लेकिन HDFC, Dr reddy के शेयर सबसे ज्‍यादा नुकसान में रहे. Nifty भी कल के 17999 अंक के बंद स्‍तर से 41 प्‍वाइंट नीचे खुला.

जानकारों की मानें तो मुद्रास्फीति के दबाव की वजह से कंपनियां कीमतों में बढ़ोतरी कर रही हैं, जिसका असर मांग पर पड़ेगा. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि मंगलवार को बैंकिंग और फार्मा कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिली थी. इसके अलावा रिजर्व बैंक  ने कहा है कि शेयर बाजार का मूल्यांकन बढ़ा हुआ है, जिससे बाजार पर दबाव और बढ़ गया है.

मंगलवार को वैश्विक बाजारों के मिले-जुले रुख के बीच RIL, ICICI Bank और SBI जैस बड़े शेयरों में नुकसान से सेंसेक्स 396 अंक की डुबकी लगा गया था. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 110.25 अंक या 0.61 प्रतिशत के नुकसान से 18,000 अंक से नीचे 17,999.20 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी के 37 शेयर नुकसान में थे. सेंसेक्स की कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर सबसे अधिक 2.51 प्रतिशत टूट गया था. SBI में 2.31 प्रतिशत, अल्ट्राटेक सीमेंट में 2.2 प्रतिशत, एनटीपीसी में 2.08 प्रतिशत और इंडसइंड बैंक में 1.8 प्रतिशत का नुकसान रहा था.

इसके अलावा सन फार्मा, डॉ. रेड्डीज, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक के शेयर भी नीचे आए. दूसरी ओर मारुति का शेयर सात प्रतिशत से अधिक चढ़ गया। महिंद्रा एंड महिंद्रा में 3.44 प्रतिशत का लाभ रहा. टेक महिंद्रा, बजाज फाइनेंस, इन्फोसिस और बजाज फिनसर्व के शेयर भी बढ़त के साथ बंद हुए.

आशिक ब्रोकिंग के खुदरा शोध प्रमुख अरितीज मालाकार ने कहा कि रिजर्व बैंक और अन्य वैश्विक ब्रोकरेज कंपनियां भारतीय शेयर बाजारों में अधिक मूल्यांकन को लेकर सतर्क हैं. एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा कि बाजार में काफी उतार-चढ़ाव रहा.