भारत में अब कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बेहद कम हो गया है. रोजाना अब इसके कम नए मामले सामने आ रहे हैं. अमेरिका के विदेश विभाग  ने जानकारी दी है कि सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने भी भारत में कोविड 19 के खतरे का स्‍तर 1 बताया है, जो कि बेहद कम है.

अमेरिका ने एक ट्रैवल एडवाइजरी भी जारी की है. इसमें कहा गया है कि अगर आप एफडीए स्‍वीकृत वैक्‍सीन की दोनों डोज लगवाए हैं तो आपमें कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे की आशंका बेहद कम है. सीडीसी की वेबसाइट में कहा गया है कि भारत जाने वाले यात्रियों के लिए अहम जानकारी- आप यह सुनिश्चित करें कि भारत की यात्रा से पहले आप पूरी तरह से वैक्‍सीन लगवाए हों. भारत में आप मास्‍क पहनने जैसे उपायों को अपनाएं.’

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण को मात देने के लिए 16 जनवरी से बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में दिए जाने वाले कोविड-19 टीकों की खुराक बुधवार को 113.61 करोड़ को पार कर गई है.

मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार शाम सात बजे तक टीकों की कुल 61,21,626 खुराक दी जा चुकी हैं. मंत्रालय ने बताया कि देश में सबसे कमजोर जनसंख्या समूहों को कोविड -19 से बचाने के लिए एक उपकरण के रूप में टीकाकरण की नियमित रूप से समीक्षा की जाती है और इसकी निगरानी उच्चतम स्तर पर की जाती है.

स्वास्थ्यकर्मियों (एचसीडब्ल्यू) को पहले चरण में टीका लगाने के साथ ही देशव्यापी टीकाकरण अभियान 16 जनवरी को प्रारंभ किया गया था. इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण दो फरवरी से शुरू हुआ था.

कोविड-19 टीकाकरण का अगला चरण एक मार्च से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के बीमार लोगों के लिये शुरू किया गया. इसके बाद देश में एक अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीकाकरण शुरू किया गया और एक महीने के बाद एक मई से 18 साल या उससे ऊपर के सभी लोगों के टीकाकरण की शुरूआत की गई.