श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर करतारपुर कॉरिडोर दोबारा खोलने की मांग तेज हो रही है. पंजाब भाजपा के नेताओं के बाद अब पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि सिख संगत की भावनाओं का सम्मान करते हुए 19 नवंबर से पहले करतारपुर कॉरिडोर खोल दिया जाए.

इससे पहले पंजाब भाजपा नेताओं के एक दल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर इस मांग को उठाया था. सोमवार को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा ने बताया कि 19 को प्रकाश पर्व आ रहा है. नानक नाम लेवा और सिखों की भावनाओं को देखते हुए कॉरिडोर खुलना आवश्यक है. अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण की दर में भी काफी गिरावट आई है, इसलिए प्रधानमंत्री के साथ ही राष्ट्रपति से भी कॉरिडोर खोलने की मांग पंजाब भाजपा के द्वारा की गई है.। उन्होंने दावा किया कि जल्द ही केंद्र सरकार कॉरिडोर खोले जाने को लेकर फैसला करेगी.

इससे पहले शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) की प्रधान बीबी जागीर कौर ने करतारपुर कॉरिडोर खोलने की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था. पत्र में उन्होंने कहा कि संगत श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व मना रही है और श्री करतारपुर साहिब के खुले दर्शन करना चाहती है. इससे पहले भी उन्होंने 25 मार्च 2021 को पीएम मोदी को पत्र लिखकर श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने को कहा था. उन्होंने कहा था कि अब कोविड महामारी से हालात सामान्य हो चुके हैं और आर्थिक व अन्य गतिविधियां शुरू हो गई हैं, ऐसे में सरकार को सिख श्रद्धालुओं की भावनाओं को देखते हुए कॉरिडोर को फिर से खोल देना चाहिए.

अकाली सांसद हरसिमरत कौर बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री को पत्र लिखकर करतारपुर कॉरिडोर खोलने की मांग की थी. हरसिमरत कौर बादल ने कहा था कि सिख श्रद्धालु एक बार फिर कॉरिडोर के खुलने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. उन्होंने कॉरिडोर को खोलने और श्री करतारपुर साहिब को भारत में मिलाने की अपील की थी.