डिजिटल युग में गूगल अब केवल एक सर्च इंजन या अन्य कोई हेल्पिंग टूल बनकर नहीं रह गया है, बल्कि सही मायनों में यह हमारे जीवन का एक जरूरी हिस्सा बन गया है. गूगल हर किसी के लिए जरूरी सा बन गया है. जो इंटरनेट का इस्तेमाल करता है उसके पास पास गूगल अकाउंट होता है. गूगल अकाउंट केवल एक अकाउंट ना होकर हम सभी की वर्चुअल जानकारी की कुंजी होती है. इसलिए इसका सुरक्षित होना बहुत जरूरी है.

गूगल अकाउंट पर जल्द ही एक क्लिक लॉगिन सिस्टम खत्म हो जाएगा. अपना खाता लॉग-इन करने के लिए आपको अपना अकाउंट अपडेट करना होगा.

हम खुद तो गूगल अकाउंट को पासवर्ड के साथ सिक्योर रखते ही हैं, साथ ही गूगल भी समय-समय पर खुद को अपडेट करते हुए सिक्योर करता रहता है.

गूगल एक बार फिर से अपनेआप को अपडेट करने जा रहा है. गूगल 9 नवंबर को खुद को अपडेट करने जा रहा है. अब आपको एक बड़ा सिक्योरिटी अपडेट मिलेगा. गूगल अकाउंट का टू-स्टेप वेरिफिकेशन खुद ही एक्टिवेट हो जाएगा.

आपको इस अपडेशन की जानकारी मिल जाएगी. अपने गूगल अकाउंट को अपडेट करने के लिए आपको अपना अकाउंट अपडेट करना होगा.

ऐसे करें सिक्योर अपना Google अकाउंट

गूगल अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए आपको गूगल के टू-स्टेप वेरिफिकेशन से काफी फायदा पहुंच सकता है. इसके लिए आपको Security Checkup टूल से अपने अकाउंट को चेक करते रहना चाहिए. एक बार जब आप टू-स्टेप वैरिफिकेशन कर लेते हैं तो जब आप किसी नए डिवाइस में साइन-इन करते हैं तो आपको अलर्ट मिलेगा. अगर कोई दूसरा आपके अकाउंट के साथ छेड़छाड़ करेगा तो आपको फौरन इसकी जानकारी मिल जाएगी.

गूगल ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कहा कि साल 2021 के आखिरी तक कंपनी ने 15 करोड़ गूगल यूजर्स के लिए 2-Step Verification को ऑटो-इनरोल कर दिया जाएगा. इसके साथ ही 20 लाख से ज्यादा Youtube क्रिएटर्स के लिए टू-स्टेप वेरिफिकेशन लागू हो जाएगा. इसके अलावा अगर आपको कभी पब्लिक नेटवर्क का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो Google आपको Address Bar में वॉर्निंग देकर बता देगा कि यह डिवाइस आपके लिए सुरक्षित है या नहीं.

Google लाया नया फीचर

गूगल ने नाबालिगों की सुरक्षा के लिए एक नया टूल लॉन्च किया है, जिसमें माता-पिता/अभिभावकों और लीगल प्रतिनिधियों के अनुरोध पर नाबालिगों की इमेज को कंपनी अपने सर्च रिजल्ट्स से हटा देती है.

Google ने कहा कि वह 18 साल से कम उम्र के किसी भी किशोर की इमेज को अपने सर्च रिजल्ट्स से हटा देगी. इसके लिए किशोर, उनके माता-पिता या अभिभावक को गूगल से अनुरोध करना होगा.