पश्चिम बंगाल में दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. इसे देखते हुए यहां तीन दिनों के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है. इस दौरान सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को ही काम करने की इजाजत होगी. सोनारपुर में अब तक 19 कंटेनमेंट जोन घोषित हुए हैं. सोनारपुर राजधानी कोलकाता से करीब 20 किलोमीटर दूर है.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने बंगाल सरकार को एक पत्र लिखा है, जिसमें दुर्गा पूजा के बाद राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई गई है. पत्र में ICMR ने बताया है कि दुर्गा पूजा के बाद से कोलकाता में कोविड केस में करीब 25% की बढ़ोत्तरी हुई है. बीते 24 घंटों में कोलकाता में 248 मामले सामने आए हैं और 6 मौतें हुई हैं.

कोविड गाइडलाइंस का पालन सुनिश्चित कराने की अपील

केंद्र ने पश्चिम बंगाल सरकार से कोरोना के मामलों और मौतों को लेकर तुरंत समीक्षा करने को कहा है. त्योहारों के दौरान कोविड गाइडलाइंस का पालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है. पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य सचिव को 22 अक्टूबर को जारी पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि राज्य में पिछले 30 दिन के दौरान संक्रमण के 20,936 नए मामले मिले हैं. इस दौरान 343 मरीजों की मौत हुई है, जोकि इस अवधि में भारत में सामने आए नए मामलों का 3.4% जबकि मौत के मामलों का 4.7% है.

पश्चिम बंगाल में मंगलवार को 806 नए केस दर्ज हुए

हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, पश्चिम बंगाल में मंगलवार को 806 नए केस दर्ज हुए और 15 मरीजों की मौत हुई. इससे पहले सोमवार को यहां 805, रविवार को 989 और शनिवार को 974 संक्रमित मिले थे. राज्य में अब तक कोरोना के 15.88 लाख मामले सामने आ चुके हैं और 19,081 लोगों की मौत हुई है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को ऐलान कि कक्षा 9 से 12वीं तक के बच्चे अब स्कूल जाकर क्लास अटेंड कर सकेंगे. सभी स्कूल 16 नवंबर से शुरू होंगे. पहले बनर्जी ने 15 नवंबर से स्कूल खोलने की घोषणा की थी, लेकिन उस दिन बिरसा मुंडा की जयंती है. इसलिए अब सभी स्कूल 16 नवंबर को खुलेंगे.