अगर आप भी छोटे एलपीजी सिलेंडर का उपयोग करते हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. अब आपको गैस सिलेंडर (LPG chotu gas cylinder) के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा. आप जल्द ही राशन की दुकानों से गैस सिलेंडर खरीद सकेंगे. केंद्र सरकार किराना दुकानों के जरिए छोटे एलपीजी सिलेंडर को बेचने और यहां तक कि वित्तीय सेवाओं मुहैया कराने पर विचार कर रही है.

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सरकारी राशन की दुकानों को वित्तीय रूप से अधिक व्यवहारिक बनाने के लिए फूड सेक्रेटरी सुधांशु पांडे ने हाल ही में विभिन्न राज्य सरकारों के अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की थी, जिस दौरान इन प्रस्तावों को रखा गया.

पेट्रोलियम कपनियों के साथ हुई बैठक

इलेक्ट्रॉनिक एंड आईटी, फाइनेंस और पेट्रोलियम एंड नेचुरल गैस मंत्रालय के अधिकारी भी इस बैठक में शामिल थे. इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL), साथ ही CSC ई गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड (CSC) के अधिकारी भी इस बैठक में उपस्थित थे.

ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (OMC) के प्रतिनिधियों ने सरकारी राशन की दुकानों के जरिए छोटे एलपीजी सिलेंडरों की खुदरा बिक्री के प्रस्ताव की सराहना की. उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव पर इच्छुक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को उनकी तरफ से इस प्रोजेक्ट के लिए आवश्यक सहायता प्रदान की जाएगी.

मिलेगा मुद्रा लोन का फायदा

सरकारी राशन की दुकानों के जरिए वित्तीय सेवाएं की बिक्री के प्रस्ताव पर, डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज (DFS) के प्रतिनिधियों ने बताया कि इच्छुक राज्यों के साथ कोऑर्डिनेट करके इसके लिए आवश्यक सहायता प्रदान की जाएगी. बयान में कहा गया कि सरकार इन राशन दुकानों के जरिए भी मुद्रा लोन मुहैया कराने पर विचार कर रही है.

बैठक में केंद्रीय फूड सेक्रेटरी पांडे ने राशन की दुकानों वित्तीय रुप से अधिक व्यवहारिक बनाने के लिए जरूरी कदम उठाने की आवश्यकता पर जोर दिया. राज्य सरकारों ने सुझाव दिया कि कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) के सहयोग से इन दुकानों की वित्तीय उपयोगिता बढ़ सकती है.