LIC म्यूचुअल फंड एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (LIC Mutual Fund Asset Management Ltd) ने एक बैलेंस्ड एडवांटेज फंड लॉन्च कर दिया है. यह एक एक ओपन एंडेड डायनेमिक एसेट एलोकेशन फंड है जिसमें वैल्यूएशन और कमाई जैसे पैरामीटर्स के जरिए इक्विटी, डेट और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश किया जा सकेगा. यह नया फंड ऑफर (NFO) सब्सक्रिप्शन के लिए 20 अक्टूबर से 3 नवंबर के बीच खुला है.

LIC MF BAF के फंड मैनेजर इक्विटी हिस्से के लिए योगेश पाटिल और डेट हिस्से के लिए राहुल सिंह को बनाया जाएगा. LIC MF BAF को एक कस्टमाइज्ड इंडेक्स, एलआईसी एमएफ हाइब्रिड कम्पोजिट 50:50 इंडेक्स के खिलाफ बेंचमार्क किया गया है. पिछले कुछ सालों में बैलेंस्ड एडवांटेज फंडों को लोगों ने काफी ज्यादा पसंद किया है और तेजी से उछाल आया है. निवेशकों को इक्विटी टैक्सेशन बेनिफिट्स का फायदा देने के लिए फंड का लक्ष्य सकल इक्विटी आवंटन 65 फीसदी या उससे अधिक रखना होगा.

इसकी वजह ये रही कि एसेट मैनेजमेंट कंपनियां (AMCs) अपने प्रभावी इक्विटी एक्सपोजर को 65 फीसदी से कम करने के लिए डेरिवेटिव का इस्तेमाल करती हैं. जबकि सकल एक्सपोजर को 65 फीसदी या उससे अधिक पर बनाए रखती हैं. अगर एक इक्विटी ओरिएंटेड म्यूचुअल फंड को एक साल के बाद भुनाया जाता है तो निवेशकों पर 1 लाख रुपये से अधिक के कैपिटल गेन पर 10 फीसदी टैक्स लगाया जाता है.

बता दें, एक साल से पहले रिडेमप्शन पर 1 फीसदी एक्जिट लोड होगा, जो आवंटित इकाइयों के केवल 12 फीसदी से अधिक का शुल्क लिया जाएगा. आवंटन की तारीख से 12 महीने पूरे होने के बाद कोई एक्जिट लोड नहीं होगा. LIC Mutual Fund के सीईओ दिनेश पंगटे ने कहा, बॉन्ड प्रतिफल, एक तरह से, इक्विटी में निवेश की अवसर लागत और जोखिम उठाने की क्षमता का प्रतिनिधित्व करते हैं. हम LIC MF BAF में इक्विटी और डेट के बीच इसके उल्टे संबंध का उपयोग इक्विटी से डेट में स्विच करने के लिए करेंगे.