बिहार के लिए बड़ी खबर है. भारतीय रेल आमलोगों और व्‍यवसायियों की मांग पर ध्‍यान देते हुए उसे पूरा कर सकता है. दरअसल, अहमदाबाद-मुंबई बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट की घोषणा के बाद बिहार में भी बुलेट ट्रेन चलाने की मांग की गई थी. अब यह डिमांड पूरी होती दिख रही है. दरअसल, वाराणसी से हावड़ा के बीच बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी है. इसके लिए तय रेल रूट पर नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए सर्वे का काम चल रहा है. अगर सबकुछ ठीक रहा तो बुलेट ट्रेन बिहार के 5 शहरों से होकर गुजरेगी. इन शहरों में बुलेट ट्रेन के ठहराव के लिए स्‍टेशन भी बनाए जा सकते हैं. बता दें कि बुलेट ट्रेन से कई घंटों की यात्रा कुछ घंटों में ही पूरी की जा सकेगी.

वाराणसी-हावड़ा बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के तहत 760 किलोमीटर लंबी हाई स्‍पीड रेलवे ट्रैक होगी. इस रूट पर बुलेट ट्रेन वाराणसी, पटना, बर्द्धमान होते हुए हावड़ा तक जाएगी. इसके लिए झारखंड में भी धनबाद रेलखंड पर सर्वे का काम किया जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अगर सबकुछ ठीक रहा तो बुलेट ट्रेन बक्‍सर, आरा, पटना, बिहारशरीफ और नवादा से होकर गुजरेगी. यहां पर बुलेट ट्रेन के ठहराव की भी संभावना है. हालांकि, अभी यह तय नहीं किया गया है. नेशनल हाई स्‍पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड विस्‍तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने में जुटी है.

बता दें कि पटना के व्‍यवसायियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्‍ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट को पटना तक विस्‍तार देने की मांग की थी. इस प्रोजेक्‍ट का काम पहले पूरा होने की उम्‍मीद है. बिहार चैंबर आफ कॉमर्स का कहना है कि बुलेट ट्रेन से पटना को जल्‍दी जोड़ने का फायदा बड़ी आबादी को होगा. इससे राज्‍य में व्‍यवसायिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा. वाराणसी-हावड़ा बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के तहत बिहार की राजधानी सहित कई शहरों को इसमें शामिल करने का फैसला किया गया है. वाराणसी-हावड़ा हाई स्‍पीड रेल नेटवर्क के लिए सर्वे का काम टीला कंसल्टेंट्स एंड कॉन्ट्रैक्टर्स प्राइवेट लिमिटेड और मोनार्क सर्वेयर्स एंड इंजीनियरिंग कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के कंसोर्टियम को सौंपा गया है.