तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर जारी प्रदर्शन के बीच बृहस्पतिवार को दिल्ली-उत्तर प्रदेश के गाजीपुर बार्डर पर हैरान कर देने वाला नजारा देखने को मिला. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत अपने प्रदर्शनकारी किसान साथियों के साथ गाजीपुर बार्डर पर बैरिकेड हटाते नजर आए. इस दौरान यहां पर मौजूद मीडिया कर्मियों से कहा कि रास्ता किसान प्रदर्शनकारियों ने नहीं रोका है, बल्कि पुलिस ने इन बैरिकेड के जरिये लोगों की आवाजाही रोकी है.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पिछले जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान किसान आंदोलन को लेकर नाराजगी जता चुका है, जिससे दिल्ली के बार्डर के कई रास्ते बंद हैं. सुप्रीम कोर्ट ने प्रदर्शन पर किसान संगठनों से पूछा था कि जब मामला अदालत में है, तब किसान प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं. बता दें कि केंद्रीय कृषि कानूनों को रद करने की मांग को लेकर यूपी, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान समेत तमाम राज्यों के किसान 27 नवंबर से दिल्ली-एनसीआर के बार्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि जब तक तीनों केंद्रीय कृषि कानून पूरी तरह से वापस नहीं लिए जाते हैं तब तक वह प्रदर्शन खत्म नहीं करेंगे.