देश में करीब 70.66 लाख यात्रियों ने सितंबर महीने में हवाई यात्रा की जो कि अगस्त में 67.01 लाख यात्रियों की तुलना में 5.44 प्रतिशत अधिक है. नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने सोमवार को यह जानकारी दी.

विमानन क्षेत्र के नियामक डीजीसीए के अनुसार जुलाई, जून, मई और अप्रैल में क्रमश: 50.07 लाख , 31.13 लाख , 21.15 लाख लोगों और 57.25 लाख लोगों ने हवाई यात्रा की थी. मई में घरेलू हवाई यातायात में अचानक गिरावट कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण आई थी जिसने देश और उसके विमानन क्षेत्र को बुरी तरह प्रभावित किया था.

बता दें, डीजीसीए द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, इंडिगो की सितंबर में घरेलू बाजार में 56.2 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ 39.69 लाख लोगों ने यात्रा की, जबकि स्पाइसजेट से 6.02 लाख यात्रियों ने यात्रा की.

आंकड़ों के मुताबिक एयर इंडिया, गो फर्स्ट (जिसे पहले गोएयर के नाम से जाना जाता था), विस्तार और एयर एशिया इंडिया के विमानों से सितंबर में क्रमश: 8.53 लाख, 5.8 लाख, 6.12 लाख और 4.13 लाख लोगों ने यात्रा की. सितंबर में छह प्रमुख विमान कंपनियों के लिए ऑक्यूपेंसी दर 63.7 प्रतिशत से 78.8 प्रतिशत के बीच थी.

महामारी के मद्देनजर भारत और अन्य देशों में लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण विमानन क्षेत्र पर काफी प्रभाव पड़ा है. डीजीसीए के आंकड़ों में उल्लेख किया गया है कि सितंबर 2021 में इंडिगो ने चार मेट्रो हवाई अड्डों-बेंगलुरु, दिल्ली, हैदराबाद और मुंबई में 95.5 प्रतिशत के साथ समय पालन किया. डीजीसीए ने कहा कि एयर एशिया इंडिया और गो फर्स्ट अगस्त में इन चार हवाई अड्डों पर समय का पालन करने के मामले में क्रमश: 95.1 प्रतिशत और 94.4 प्रतिशत के साथ दूसरे और तीसरे स्थान पर थे.