नागर विमानन सचिव राजीव बंसल ने कहा है कि एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया अगले 10 दिन में पूरी हो सकती है और तब तक केवल आवश्यक राजस्व तथा पूंजीगत व्यय किये जाने चाहिए. बंसल एयर इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक भी हैं. उन्होंने एक आदेश में कहा कि एयरलाइन के विनिवेश की प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में है और टाटा समूह को इरादा पत्र पहले ही जारी कर दिया गया है.

दूसरी तरफ टाटा समूह ने शेयर खरीद समझौते के बाद एयर इंडिया सहित एयरलाइन उद्योग में अपनी सभी होल्डिंग्स को ऑन-बोर्ड करने के लिए एक नया व्यवसाय वर्टिकल बनाने की योजना बनाई है. नया वर्टिकल एयर इंडिया एक्सप्रेस और एआईएसएटीएस में समूह की रुचि रखेगा. वर्तमान में, टाटा की कम लागत वाली वाहक एयरएशिया इंडिया और पूर्ण-सेवा एयरलाइन विस्तारा में बहुमत हिस्सेदारी है.

समूह के कई कार्यक्षेत्र हैं, जिनमें से एक पर्यटन और यात्रा में समूह की रुचि इंडियन होटल्स कंपनी, विस्तारा और एयरएशिया इंडिया में है. सूत्रों के मुताबिक, इस विशेष कार्यक्षेत्र को एयरलाइंस और होटल व्यवसायों में विभाजित किया जाएगा.