टी20 वर्ल्ड कप का आगाज रविवार 17 अक्टूबर से होने जा रहा है. बांग्लादेश की टीम ग्रुप-बी के क्वालिफाइंग राउंड में रविवार को स्कॉटलैंड के खिलाफ उतरेगी. बांग्लादेश को पहले राउंड में स्कॉटलैंड, ओमान और पापुआ न्यू गिनी के साथ रखा गया है. ग्रुप की टॉप-2 टीम को सुपर-12 में जगह मिलेगी. ग्रुप-बी के एक अन्य मैच में रविवार को ओमान और पापुआ न्यूज गिनी भी भिड़ेंगे. क्वालिफाइंग के ग्रुप-ए में आयरलैंड, नीदरलैंड्स, श्रीलंका और नामीबिया हैं. सुपर-12 के मुकाबले 23 अक्टूबर से शुरू होंगे. 16 टीमों के बीच कुल 45 मुकाबले खेले जाने हैं. टूर्नामेंट का फाइनल 14 नवंबर को खेल जाएगा. फाइनल मैच यदि खराब मौसम या बारिश के कारण नहीं होता है तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा.

बांग्लादेश की टीम इस टूर्नामेंट से पहले कैलेंडर ईयर में 9 टी20 इंटरनेशनल मैचों में जीत दर्ज कर चुकी है और केवल साउथ अफ्रीका से पीछे है. साउथ अफ्रीका ने 12 मैच जीते हैं. बांग्लादेश ने जिम्बाब्वे (2-1), ऑस्ट्रेलिया (4-1) और न्यूजीलैंड (3-2) के खिलाफ सीरीज जीती. अगर बांग्लादेश की टीम ग्रुप-बी में शीर्ष पर रहकर क्वालिफाई कर लेती है तो सुपर-12 में वह भारत, अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड और पाकिस्तान तथा ग्रुप-ए की उपविजेता टीम से भिड़ेगी. लीग राउंड के दौरान यदि बारिश होती है तो कम से कम एक पारी में 5 ओवर का खेल जरूरी होगा. वहीं सेमीफाइनल और फाइनल में एक पारी में कम से कम 10 ओवर का खेल जरूरी किया गया है.

बांग्लादेश के लिए हालांकि टी20 वर्ल्ड कप में सफर अच्छा नहीं रहा है. 2007 में शुरुआती चरण से टीम सुपर-8 में पहुंची थी, जो उसके लिए शानदार सफर रहा था. लेकिन इसके बाद से टीम 2009, 2010 और 2012 एक भी जीत दर्ज नहीं कर सकी. 2014 में टीमों की संख्या बढ़ाकर 16 कर दिया गया तो बांग्लादेश की टीम ने वापसी की और ग्रुप-ए में शीर्ष पर रहकर सुपर-10 चरण में पहुंची थी. हालांकि इसके बाद सभी चारों मैच गंवा बैठी थी. वहीं 2016 में भी यही सिलसिला जारी रहा.