भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेता एम सुरंजय सिंह और एल देवेंद्रो सिंह को इस महीने होने वाली विश्व चैंपियनशिप से पहले पुरुषों की कोचिंग टीम में शामिल किया है. पटियाला में इस सप्ताह शुरू हो रहे राष्ट्रीय शिविर के लिये जिन 14 कोच को चुना गया है, उनमें 29 वर्षीय देवेंद्रो और 35 वर्षीय सुरंजय भी शामिल हैं. विश्व चैंपियनशिप सर्बिया के बेलग्रेड में 24 अक्टूबर से शुरू होगी, जिसमें 100 से अधिक देशों के 600 मुक्केबाज भाग लेंगे.

कोचिंग स्टाफ में जो अन्य प्रमुख नाम हैं, उनमें मुख्य कोच नरेंदर राणा, पूर्व जूनियर कोच एम एस ढाका, धर्मेन्द्र यादव तथा पूर्व मुक्केबाज दिवाकर प्रसाद और तोराक खारपान शामिल हैं. बीएफआई के महासचिव हेमंत कालिता ने पीटीआई से इसकी पुष्टि की. दिलचस्प बात यह है कि सुरंजय और देवेंद्रो दोनों को जूनियर स्तर पर ढाका ने कोचिंग दी थी.

सुरंजय को इससे पहले 2017 में भी सहायक कोच नियुक्त किया गया था लेकिन उन्होंने निजी कारणों से तब यह जिम्मेदारी स्वीकार नहीं की थी.

मणिपुर के इस पूर्व मुक्केबाज ने कहा कि पिछली बार जब मुझे चुना गया था, तो कुछ पारिवारिक परेशानियां थी. अभी सब ठीक है, पद संभाल लेंगे. देवेंद्रो भी इस नयी भूमिका को लेकर उत्साहित हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने इतने वर्षों में जो कुछ सीखा है, आखिर में मुझे उसका उपयोग करने का मौका मिला है. मुझे उम्मीद है कि मैं अहम योगदान दूंगा. यह मेरे लिये सम्मान है.’’सुरंजय और देवेंद्रो अपने करियर के दौरान चोटों से जूझते रहे जिसके कारण उनका करियर लंबा नहीं खिंचा.