लखीमपुर मामले में पीड़ित परिजनों से मिलने पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सबसे पहले किसान लवप्रीत के परिजन से मिले. इस दौरान उन्होंने कहा कि जब तक न्याय नहीं मिलेगा तब तक ये सत्याग्रह चलता रहेगा. उन्होंने लवप्रीत के परिजन से मिलने की जानकारी ट्वीट के जरिए दी. इस ट्वीट के साथ ही उन्होंने दो फोटो भी पोस्ट किए. साथ ही उन्होंने लिखा कि लवप्रीत तुम्हारा बलिदान भूलेंगे नहीं. इस दौरान कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी भी उनके साथ थीं. प्रियंका गांधी सीतापुर से सीधे लखीमपुर पहुंची थीं.

गौरतलब है कि राहुल गांधी शाम 7.45 बजे लखीमपुर पहुंचे थे. इस दौरान उनके साथ काफी गाड़ियों का काफिला था. इस दौरान रास्ते में कई किमी. तक लोगों की भीड़ सड़क के दोनों तरफ लग गई थी. इससे पहले राहुल गांधी को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोक लिया गया था और कहा गया था कि वे पुलिस की गाड़ी में ही वहां जा सकते हैं. लेकिन राहुल गांधी निजी गाड़ी से जाने की मांग पर अड़े थे, इसको लेकर वे धरने पर बैठ गए, बाद में उन्हें निजी गाड़ी से जाने की अनुमति मिल गई थी. इस दौरान राहुल गांधी ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि मैं अपनी गाड़ी में जाना चाहता हूं लेकिन अब लग रहा है कि ये लोग कोई बड़ी योजना बना रहे हैं.

वहीं राहुल गांधी के पहुंचने की खबर के साथ ही एलआरपी गेस्ट हाउस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. वहां पर आरएएफ तैनात की गई है. वहीं लखीमपुर के आला अधिकारी भी गेस्ट हाउस पहुंच गए हैं. इसके साथ ही बड़ी संख्या में पुलिस बल भी पूरे लखीमपुर में तैनात कर दिया गया है. बताया जा रहा है कि स्‍थानीय पुलिस भी राहुल गांधी के काफिले के साथ है.