माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में विंडोज़ 11 (Windows 11) को रोलआउट करना शुरू कर दिया है. लेटेस्ट सॉफ्टवेयर विंडोज 10 पीसी पर मुफ्त अपग्रेड के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है और नए पीसी पर ये पहले से इंस्टॉल किया हुआ उपलब्ध कराया जा रहा है. कंपनी ने ऐलान किया है कि आसुस, HP, और लेनेवो जैसे पार्टनर की नई डिवाइस पर Windows 11 प्री-इंस्टॉल मिलेगा और जल्द ही Acer और Dell की नई डिवाइस में दिया जाएगा.

माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक, यूज़र्स को विंडोज 11 को ‘Download and Install’ को सेलेक्ट करने के बाद माइक्रोसॉफ्ट सॉफ्टवेयर लाइसेंस की शर्तों को स्वीकार करना होगा. इसके बाद ही डाउनलोडिंग का प्रोसेस शुरू होगा.

माइक्रोसॉफ्ट ने पहले कहा था कि यूज़र्स अपने पुराने पीसी पर लेटेस्ट OS के लिए ISO फाइल इंस्टॉल करके और इसे मैन्युअल रूप से इंस्टॉल करके विंडोज 11 का इस्तेमाल कर सकेंगे.

ऐसे चेक करें PC पर Windows 11 काम करेगा या नहीं…

Windows 11 आपके लिए है या नहीं इसे चेक करने के लिए यूज़र्स को Settings > Windows Update पर जाना होगा. अगर आपको अभी तक अपडेट नहीं मिला है और आपको ये चेक करना है कि क्या आपका पीसी विंडोज 11 चलाने में सक्षम होगा या नहीं, तो आपको माइक्रोसॉफ्ट के PC’s Health ऐप को डाउनलोड करना होगा. अगर विंडोज PC Health ऐप दिखाता है कि आपका पीसी 11 से कंपैटिबल है और आप अपडेट का और इंतज़ार नहीं करना चाहते हैं, तो दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें.

Step 1: सबसे पहले Windows 11 सॉफ्टवेयर डाउनलोड पेज पर जाएं.

Step 2: Windows 11 इंस्टॉलेशन असिस्ट का इस्तेमाल करें और ‘Download Now’ पर क्लिक करें, और दिए इंस्ट्रक्शन को फॉलो करें.

Step 3: यहां ‘Create Windows 11 Installation Media’ पर जाकर आप बूट होने वाली USB ड्राइव या DVD क्रिएट कर सकते हैं.

Step 4: अब आप डिस्क इमेज (ISO) को bootable मीडिया या वर्चुअल मशीन इंस्टॉल के लिए डाउनलोड कर सकते हैं.

Step 5: अब डायरेक्शन को फॉलो करें और इस तरह आप आसानी से Windows 11 इंस्टॉल कर सकेंगे.