भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने कहा है कि चीन ने पूर्वी लद्दाख के पास तीन ठिकानों पर अपनी वायु सेना को तैनात किया है. उनका यह बयान सेना प्रमुख जनरल (COAS) एमएम नरवणे (MM Narvane) द्वारा सभी पूर्वी लद्दाख और उत्तरी मोर्चे पर चीन द्वारा ‘काफी संख्या’ में सैनिकों को तैनात करने पर अलर्ट जारी करने के तीन दिन बाद आया है. चीन-पाकिस्तान साझेदारी और दो मोर्चों पर युद्ध की आशंका के बारे में बात करते हुए चौधरी ने कहा, ‘इस साझेदारी से डरने की कोई बात नहीं है. एकमात्र चिंता यह है कि पश्चिमी तकनीक पाकिस्तान से चीन तक जा रही है.’ उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि पाकिस्तान और पीओके में हवाई क्षेत्र में चिंता करने जैसा कुछ नहीं है.

IAF चीफ ने कहा, ‘हमें पाकिस्तान और पीओके में हवाई क्षेत्रों से ज्यादा चिंतित होने की जरूरत नहीं है क्योंकि वे छोटे स्ट्रिप्स हैं जहां से कुछ हेलीकॉप्टर ही उड़ान भर सकते हैं.’ इससे पहले COAS नरवणे ने कहा था कि चीन ने पूरे पूर्वी लद्दाख में बड़ी संख्या में तैनाती की है. हालांकि, सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि भारत भी हर खतरे से निपटने के लिए तैयार हो रहा है. उन्होंने 13 दौर की बैठक में हालात बेहतर होने की उम्मीद जताई है. साथ ही उन्होंने जानकारी दी है कि पाकिस्तान की तरफ से भी दो बार सीजफायर उल्लंघन हुआ है.