भारतीय स्टेट बैंक और भारतीय नौसेना ने सोमवार को देश के सबसे बड़े नौसैनिक विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य पर एसबीआई का NAV-eCash card लॉन्च किया. बैंक ने कहा कि यह कार्ड समुद्र में जहाज की तैनाती के दौरान भौतिक नकदी को संभालने में कर्मियों के सामने आने वाली कठिनाइयों को दूर करेगा.

नौसैनिक जहाजों के बुनियादी ढांचे से पेमेंट को रुकावट आती है, खासकर जब जहाज बीच समुद्र में होता है जहां कोई कनेक्टिविटी नहीं होती है. NAV-eCash card, अपनी डबल चिप टेक्नोलॉजी के साथ ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों लेनदेन की देगा.

बैंक के प्रबंध निदेशक (खुदरा और डिजिटल बैंकिंग) सी एस सेट्टी ने कहा कि एक सुरक्षित, सुविधाजनक और टिकाऊ पेमेंट सिस्टम बनाने के लिए इस अवधारणा को अन्य नौसैनिक जहाजों और विभिन्न रक्षा प्रतिष्ठानों पर भी शुरू किया जाएगा.

भारतीय स्टेट बैंक संपत्ति, जमा, ब्रांच, ग्राहकों और कर्मचारियों के मामले में सबसे बड़ा कमर्शियल बैंक है. यह देश का सबसे बड़ा मोर्गेज लेंडर भी है जिससे अब तक 30 लाख भारतीय परिवार घर खरीद चुके हैं.

वही, अगर नौकरी नहीं है फिर भी क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा. इसके लिए आपको कुछ कागजात देने होंगे। मसलन, आय का प्रमाण। अगर आपके पास नौकरी नहीं है, लेकिन आपके खाते में पर्याप्त पैसा आते रहता है, तो आप क्रेडिट कार्ड के आवेदन करने के लिए योग्य हैं.