लखीमपुर किसानों और मंत्री के बेटे के बीच रविवार को हिंसक टकराव में आठ लोगों की मौत के बाद उत्तर प्रदेश में बवाल मचा हुआ है. सियासी उबाल के बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी लखीमपुर पहुंच गई हैं लेकिन उन्हे पीड़ितों ने नहीं मिलने दिया गया गया है. किसान नेता राकेश टिकैत भी खीरी पहुंच गए हैं.

बता दें, लखीमपुर के बनबीरपुर गांव में राकेश टिकैत ने संवाददाताओं से कहा कि हम पहले किसानों और ग्रामीणों से मिलेंगे और उनके साथ स्थिति पर चर्चा करेंगे. ग्रामीणों और किसानों से चर्चा के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी. उनका फैसला मान्य होगा.

इस बीच यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने दावा किया है कि प्रियंका गांधी को हरगांव से गिरफ्तार किया गया. प्रियंका के अलावा कई और नेता भी आज लखीमपुर खीरी पहुंचने वाले हैं.

बता दें, मौर्य के कार्यक्रम में शामिल होने आशीष मिश्र भी काफिले के साथ तिकुनिया मार्ग से जा रहे थे. विद्युत उपकेंद्र के पास जमा किसानों और आशीष के बीच झड़प हो गई. किसान नेताओं का आरोप है कि आशीष ने उन पर गाड़ी चढ़ा दी, इससे गुरुविंदर सिंह (22), दलजीत सिंह (24), लवप्रीत सिंह (25) और नक्षत्र सिंह की मौत हो गई. इसके बाद किसानों ने काफिले पर धावा बोल दिया और गाड़ियों में आग लगा दी.