झारखंड निवेशकों के लिए ‘Land Of Opportunity’ बनता जा रहा है. इन्‍वेस्‍टर्स मीट में इसकी एक झलक देखने को मिली है. प्रदेश में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने आकर्षक प्रस्‍ताव रखा है. दरअसल, प्रदेश की राजधानी रांची के HEC इलाके में स्‍मार्ट सिटी प्रोजक्‍ट पर काम चल रहा है. देश के सर्वोत्‍तम शैक्षणिक संस्‍थानों को आकर्षित करने के लिए रांची स्‍मार्ट सिटी प्रोजेक्‍ट की ओर से यह ऑफर दिया गया है. अधिकारियों ने इन्‍वेस्‍टर्स मीट में महज 1 रुपये के टोकन मनी पर 25 एकड़ जमीन आवंटित करने की घोषणा की है, ताकि ऐसे शिक्षण संस्‍थान रांची स्‍मार्ट सिटी में अपना कैंपस खोल सकें.

रांची स्‍मार्ट सिटी कॉरपोरेशन (RSCCL) की ओर से इन्‍वेस्‍टर्स मीट का आयोजन किया गया था. प्रदेश का शहरी विकास विभाग भी भागीदार था. इस दौरान प्‍लॉट्स की ई-ऑक्‍शन को लेकर भी चर्चा की गई. इसमें रियल एस्‍टेट, एजुकेशन, हॉस्पिटेलिटी और मेडिकल सेक्‍टर में 100 से ज्‍यादा प्रतिनिधियों ने भाग लिया था.

गौरतलब है कि सेंटर फॉर इंडियाज स्‍मार्ट सिटी मिशन के तहत चयनित 100 शहरों में रांची भी एक है. वर्ष 2017 में उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने नींव का पत्‍थर रखा था, लेकिन इस प्रोजेक्‍ट पर साल 2019 में काम शुरू हुआ. झारखंड का शहरी विकास विभाग रांची स्‍मार्ट सिटी में मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने के लिए अब तक तकरीबन 800 करोड़ रुपये का निवेश कर चुका है. इस पूरे प्रोजेक्‍ट को एचईसी इलाके में 657 एकड़ जमीन पर बसाया गया है. मास्‍टर प्‍लान में 37 फीसदी जमीन को ग्रीन बेल्‍ट और ओपन रखा गया है.