कोरोना के मामलों में देखी जा रही कमी के बाद अब इंडिया ट्रेड प्रमोशन ऑर्गनाइजेशन ने दिल्‍ली में विश्‍व प्रसिद्ध व्‍यापार मेला (Trade Fair) आयोजित करने का फैसला किया है. इस बार 14 से 27 नवंबर तक दिल्‍ली के प्रगति मैदान में 40 वां भारतीय अंतरराष्‍ट्रीय व्‍यापार मेला लगने जा रहा है. इसमें देश विदेश से आने वाले आगंतुक, ग्राहक और पेशेवरों के अलावा भारत और राज्‍य सरकारों के तमाम उपक्रम भाग लेंगे. वर्ल्‍ड ट्रेड फेयर में इस बार निर्यात पर विशेष रूप से फोकस किया जाएगा. यही वज‍ह है कि इस बार की थीम भी आत्‍मनिर्भर भारत होगी. जिसके तहत प्रगति मैदान के हॉलों में विभिन्‍न उत्‍पादों का प्रदर्शन किया जाएगा.

आईटीपीओ की ओर से बताया गया कि व्‍यापार मेला में आने वाले लोगों के लिए तमाम सुविधाओं के साथ ही इस बार कुछ लोगों को निशुल्‍क प्रवेश भी दिया जाएगा. आईटीपीओं की ओर से बताया गया कि इस बार मेला में बुजुर्गों और दिव्‍यांगजनों को मेले के सभी दिनों में निशुल्‍क प्रवेश दिया जाएगा. हालांकि वरिष्‍ठ नागरिकों और दिव्‍यांगजनों को अपने साथ आधार कार्ड या कोई भी जन्‍मतिथि सहित सरकारी प्रमाण पत्र अपने साथ लाना होगा.

ट्रेड फेयर में इस बार हॉल 2 जीएफ में फोकस देश होंगे, हॉल 3 में विदेशी भागीदारी प्रदर्शित की जाएगी. हॉल 4 में कॉस्‍मेटिक्‍स और इलेक्‍ट्रोनिक्‍स का सामान रहेगा. हॉल पांच में फूड और पेय पदार्थ रहेंगे. हॉल नंबर दो से पांच एफएफ में राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के पवेलियन देखने को मिलेंगे. हॉल 12 और 12 ए में गुड लिविंग के अलावा हॉल 7 और 8-11 में सरकारी विभागों के पीएसयू रहेंगे.

व्‍यापार मेला में प्रवेश सुबह साढ़े 9 से शाम साढ़े 7 तक रहेगा. हालांकि आम लोगों के लिए सुबह 10 से शाम के 5 बजे तक ही एंट्री रहेगी. जहां शुरुआती 14-18 तक पांच दिन बिजनेस टू बिजनेस के लिए रहेंगे. वहीं बाकी कि 19 से लेकर 27 नवंबर तक इसे आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा.