दूरसंचार विभाग (DoT) ने पांच साल पहले सेक्टर नियामक TRAI की सिफारिश के आधार पर Vodafone Idea पर 2,000 करोड़ रुपये और Bharti Airtel पर 1,050 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. जानकारी के मुताबिक, कंपनियों को दिए गए डिमांड नोटिस के अनुसार दूरसंचार विभाग (DoT) ने पेनल्टी भरने के लिए दूरसंचार ऑपरेटरों को तीन हफ्ते का समय दिया है.

VI को 2,000 करोड़ रुपये और Airtel को 1,050 करोड़ रुपये का भुगतान करना है. विशेष रूप से, भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने 2016 में “21 सर्किलों में प्रत्येक के लिए पर्याप्त POIs नहीं देने” के लिए 1,050 रुपये के जुर्माने की सिफारिश की थी. VI का बड़ा जुर्माना Idea सेल्युलर के साथ 2018 के विलय से आता है, जिस पर 19 सर्किलों में नियम का उल्लंघन के लिए 950 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया था.

भारती Airtel के प्रवक्ता ने कहा, “हम 2016 की TRAI की सिफारिशों के आधार पर एक नए ऑपरेटर को पॉइंट ऑफ इंटरकनेक्ट के प्रावधानों से संबंधित मनमानी और अनुचित मांग से बहुत निराश हैं. ये आरोप बेबुनियाद और प्रेरित थे। “भारती Airtel अनुपालन के हाई स्टैंडर्ड को बनाए रखने में गर्व महसूस करती है और हमेशा देश के कानून का पालन करती है. हम मांग को चुनौती देंगे और हमारे पास उपलब्ध कानूनी ऑप्शन को आगे बढ़ाएंगे.