प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश के किसानों को बड़ी सौगात देने जा रहे हैं. वे आज 35 नई फसलों की वैरायटी को देश को समर्पित करेंगे. इसके अलावा पीएम मोदी सुबह 11 बजे किसानों से भी बात करेंगे और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटिक स्ट्रेस टॉलरेंस रायपुर के नए परिसर का लोकार्पण करेंगे. इस अवसर पर, पीएम मोदी कृषि विश्वविद्यालयों को ग्रीन कैंपस अवार्ड भी वितरित करेंगे. वहीं इस विषय पर पीएमओ ने जानकारी देते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन और कुपोषण की दोहरी चुनौतियों से निपटने के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) द्वारा विशेष लक्षणों वाली फसल की किस्में विकसित की गई हैं.

इन फसलों की वैरायटी करेंगे पेश

इन फसलों में मुख्य रूप से मुरझाई और बंध्यता मोजेक प्रतिरोधी अरहर, सोयाबीन की जल्दी पकने वाली किस्म, चावल की रोग प्रतिरोधी किस्में, गेहूं की जैव-फोर्टिफाइड किस्में, बाजरा, मक्का और चना, क्विनोआ, पंखों वाला बीन और फैबा शामिल हैं.

बता दें कि रायपुर में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटिक स्ट्रेस टॉलरेंस की स्थापना जैविक तनाव में बुनियादी और रणनीतिक अनुसंधान करने, मानव संसाधन विकसित करने और नीति सहायता प्रदान करने के लिए की गई है. पीएमओ ने कहा कि संस्थान ने शैक्षणिक सत्र 2020-21 से पीजी पाठ्यक्रम शुरू किया है.

ग्रीन कैंपस अवार्ड्स का उल्लेख करते हुए, पीएमओ ने कहा कि यह राज्य और केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालयों को ऐसी प्रथाओं को विकसित करने या अपनाने के लिए प्रेरित करने के लिए शुरू किया गया है जो उनके परिसरों को और अधिक हरा-भरा और स्वच्छ बनाएगा, और छात्रों को ‘स्वच्छ भारत मिशन’ में शामिल होने के लिए प्रेरित करेगा.