अमेरिका ने रूस-चीन के साथ जारी तकरार के बीच एयर-ब्रीथिंग हाइपरसोनिक हथियार की सफल टेस्टिंग की है. पेंटागन ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. पेंटागन के मुताबिक ये हथियार ध्वनि से 5 गुना ज्यादा की गति रखता है. अमेरिका के 2013 के बाद से ही ऐसा टेस्ट करने की कोशिश में था, अब जाकर इसमें कामयाबी मिल पाई है.

पेंटागन ने जानकारी दी है कि हाइपरसोनिक एयर ब्रीथिंग वेपन कॉन्सेप्ट टेस्ट पिछले हफ्ते किया गया है. इस टेस्ट के साथ हम नई पीढ़ी की ओर बढ़ रहे हैं. अमेरिकी मिलिट्री की ताकत को मजबूत कर रहे हैं. अमेरिका इस साल के अंत तक ऐसे ही और टेस्ट करने की तैयारी में है. हाइपरसोनिक हथियार एक घंटे में करीब 6200 किमी. की दूरी तय करते हैं.

बता दें कि अमेरिका से पहले इसी साल जुलाई में रूस (Russia) ने Zircon हाइपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का टेस्ट किया था, जिसे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का प्रोजेक्ट कहा गया.

आपके बता दें, रेडार की पकड़ में नहीं आने वाली इस नई अमेरिकी मिसाइल की मारक क्षमता, इसकी क्षमता 2700 किलोमीटर है. इस मिसाइल के साथ ही अमेरिका अब रूस और चीन पर दूर से ही भीषण हमला करने में सक्षम हो गया है.