अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद अपनी अंतरिम सरकार बना चुके तालिबान ने कश्मीर के मसले पर अब भारत को झटका दिया है. तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद कहा था कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है, लेकिन इसके बाद तालिबान की तरफ से ये भी बयान आया कि वह कश्मीर के पीड़ित मुस्लिमों के लिए आवाज उठाना जारी रखेगा.

बता दें, तालिबान के प्रवक्‍ता और अफगा‍न डिप्‍टी इनफॉर्मेशन मिनिस्‍टर जबीहुल्लाह मुजाहिद  ने पाकिस्‍तान के एक टीवी चैनल को इंटरव्‍यू दिया और ये बातें कहीं. जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि पूरी दुनिया में ऐसे क्षेत्र हैं जहां मुसलमानों के साथ गलत व्यवहार हो रहा है चाहे फिलीस्तीन हो, कश्मीर हो या म्यांमार हो. हम ऐसे पीड़ित मुसलमानों के लिए आवाज उठाना जारी रखेंगे.

जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा, ‘जहां भी मुस्लिमों के साथ ज्यादती हो रही है, वो चिंताजनक है. हम उसके खिलाफ हैं. जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन की भी हम आलोचना करते हैं.’ अफगानिस्तान की सरकार दुनिया के विभिन्न हिस्सों में पीड़ित मुस्लिमों को राजनयिक और राजनीतिक मदद प्रदान करना जारी रखेगी.