भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा  ने सत्र का अपना पहला खिताब रविवार को जीता. सानिया ने चीन की अपनी जोड़ीदार शुआई झांग के साथ ओस्ट्रावा ओपन के डबल्स फाइनल में केटलिन क्रिस्टियन और एरिन रोटलिफ की जोड़ी को लगातार सेटों में शिकस्त दी. भारत और चीन की दूसरी वरीय जोड़ी ने अमेरिका की क्रिस्टियन और न्यूजीलैंड की रोटलिफ की तीसरी वरीय जोड़ी को खिताबी मुकाबले में 1 घंटे 4 मिनट में 6-3, 6-2 से हराया.

34 साल की सानिया और झांग ने इस डब्ल्यूटीए 500 प्रतियोगिता के सेमीफाइनल में इरी होजुमी और माकोतो निनोमिया की जापान की चौथी वरीय जोड़ी को सीधे सेटों में 6-2, 7-5 से हराया था. उन्होंने अपना शानदार प्रदर्शन फाइनल में भी जारी रखा. सानिया-झांग ने फाइनल का पहला सेट 6-3 से अपने नाम किया जिसके बाद दूसरे सेट को जीतने में भी उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई.

सानिया सत्र में दूसरी बार फाइनल में खेल रही थीं. इससे पहले उन्होंने पिछले महीने अमेरिका में क्रिस्टिना मशाले के साथ मिलकर डब्ल्यूटीए 250 क्लीवलैंड प्रतियोगिता के फाइनल में जगह बनाई थी जहां इस जोड़ी को शिकस्त का सामना करना पड़ा था.