भारत बंद का असर विशेष रूप से हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में देखने को मिला. वही, भारत बंद को लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि हमारा ‘भारत बंद’ सफल रहा. हमें किसानों का पूरा समर्थन मिला. हम सब कुछ सील नहीं कर सकते क्योंकि इससे लोगों को आवाजाही में परेशानी होगी. हम सरकार से बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन सरकार किसी तरह की बातचीत नहीं कर रही है.

बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने ये भी कहा कि योगी आदित्यनाथ ने गन्ने का मूल्य बढ़ाकर 375-450 करने का वादा किसानों से किया था. उन्होंने सिर्फ 25 रुपये ही मूल्य बढ़ाए. उन्हें किसानों के नुकसान का हिसाब देना होगा.

वही, भारत बंद पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये दुख की बात है कि शहीद भगत सिंह जन्मदिवस पर किसानों को भारत बंद का आह्वान करना पड़ रहा है. अगर आजाद भारत में भी किसानों की नहीं सुनी जाएगी तो फिर कहां सुनी जाएगी? मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि जल्द से जल्द उनकी मांगे मानें.