तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने संयुक्त राष्ट्र की 76वीं आम सभा में एक बार फिर से कश्मीर का मुद्दा उठाया है. अर्दोआन ने यूएन महासभा को संबोधित करते हुए कहा कि तुर्की कश्मीर समस्या के समाधान के लिए अपने रुख़ पर कायम है.

उन्होंने कहा कि पिछले 74 सालों से कश्मीर समस्या उलझी हुई है और इसे संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के तहत दोनों पक्षों को सुलझाना चाहिए. हालाँकि इस बार अर्दोआन यूएन महासभा में कश्मीर को लेकर नरम दिखे. पिछले साल यूएन की 75वीं आम सभा में राष्ट्रपति अर्दोआन ने कश्मीर का मुद्दा काफ़ी ज़ोर-शोर से उठाया था.

पिछली बार अर्दोआन ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी करने का मुद्दा भी उठाया था. लेकिन इस बार उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा. इस बार अर्दोआन ने कश्मीर का मुद्दा अफ़ग़ानिस्तान, इसराइल, सीरिया, लीबिया, यूक्रेन, अज़रबैजान और चीन में वीगर मुसलमानों के बाद उठाया.