भारतीय रेलवे और दूसरे केंद्रीय उद्यम (CPSEs) के कर्मचारियों पर भी मोदी सरकार मेहरबान हो गई है. सरकार ने इन उद्यमों से जनवरी 2020 से जून 2021 के बीच रिटायर लोगों के लिए बड़े फायदे की बात की है. सरकार इन रिटायर कर्मचारियों को महंगाई भत्‍ते में 11 फीसद के उछाल का फायदा देने को राजी हो गई है. इससे जूनियर से सीनियर लेवल के कर्मचारी को रिटायरमेंट फंड में करीब 1 लाख से 7 लाख रुपए तक का फायदा होगा. यह फायदा Gratuity और Leave Encashment के तौर पर होगा.

भारतीय रेलवे के Pay Commission VII और HRMS के डिप्‍टी डायरेक्‍टर जय कुमार जी के मुताबिक केंद्र सरकार के रिटायर कर्मचारियों को पहले ही महंगाई भत्‍ते (DA) में बढ़ोतरी का फायदा दिया जा चुका है. अब बचे हुए विभागों के लोगों को इसका फायदा दिया जा रहा है. इसके तहत रेलवे के सभी जोन के रिटायर कर्मचारी आएंगे.

DA का कैलकुलेशन करने वाले एजी ऑफिस ब्रदरहुड, प्रयागराज के पूर्व अध्‍यक्ष एचएस तिवारी ने बताया कि अगर किसी कर्मचारी की Basic Salary रिटायरमेंट के समय 40 हजार रुपए है तो उन्‍हें महंगाई भत्‍ते में 11 फीसद बढ़ोतरी से बड़ा फायदा होगा. उनकी Gratuity और Leave Encashment की रकम में करीब 117000 रुपए बढ़कर मिलेगा. वहीं बेसिक पे 250000 रुपए महीना है तो रिटायरमेंट फंड में 7 लाख रुपए से ज्‍यादा का इजाफा होगा.

एचएस तिवारी ने बताया कि सरकार ने तय किया है कि 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2020 के बीच रिटायर लोगों को 21 फीसद DA के हिसाब से Gratuity और Leave Encashment मिलेगा. वहीं 1 जुलाई 2020 से 31 दिसंबर 2020 को रिटायर लोगों को 24 फीसद और 1 जनवरी 2021 से 30 जून 2021 के बीच रिटायर लोगों को 28 फीसद के हिसाब से रिटायरमेंट फंड बनेगा.