उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासत गर्माई हुई है. इसी क्रम में आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज फिर प्रदेश के दौरे पर हैं. हल्द्वानी में उन्होंने मीडिया के साथ बातचीत की और बड़ा ऐलान किया. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में अगर ‘आप’ की सरकार बनती है, तो सभी बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिया जाएगा. जब तक रोजगार नहीं मिलता, तब तक उन्हें सरकार की तरफ से 5000 रुपए महीने दिया जाएगा.

AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत करते हुए कहा कि पहाड़ में स्थानीय लोगों के लिए रोजगार बड़ा मुद्दा है, जिसकी तलाश में उन्हें मैदानी इलाकों में आना पड़ता है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी ने फ्री बिजली देने का वादा किया, 24 घंटे बिजली का वादा किया तो उसे करके दिखाएंगे. हमारी पार्टी ने दिल्ली में यह करके दिखाया है, इसलिए हम उत्तराखंड में भी यूं ही घोषणा नहीं कर रहे हैं. केजरीवाल के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान AAP के सीएम पद के उम्मीदवार अजय कोठियाल भी मौजूद थे.

केजरीवाल ने उत्तराखंड में छायी बेरोजगारी को लेकर भी बड़ा ऐलान किया. उन्होंने कहा कि बेरोजगारी के कारण ही पलायन यहां की समस्या बन गई है. उन्होंने कहा कि इसके मद्देनजर ही उनकी पार्टी ने इस पर विचार मंथन किया. इसलिए मैं आज 6 घोषणाएं कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि पहली घोषणा यह कि आम आदमी पार्टी की सरकार बनेगी तो उत्तराखंड के सभी बेरोजगार युवा को रोजगार मुहैया कराया जाएगा. दूसरी यह कि जब तक उस युवा को रोजगार नहीं मिल जाता, तब तक उस परिवार के एक युवा को हर महीने 5000 रुपए दिए जाएंगे. तीसरा ऐलान यह है कि सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में 80 प्रतिशत नौकरियां स्थानीय युवाओं को मिलेंगी.

केजरीवाल ने कहा कि चौथी घोषणा के तहत सरकार बनने के 6 महीने के भीतर 1 लाख नौकरियों का सृजन किया जाएगा. निजी और सरकारी क्षेत्र में मिलाकर इन नौकरियों का सृजन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह ही उत्तराखंड में जॉब पोर्टल बनाया जाएगा. इसके अलावा छठी घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि रोजगार और पलायन रोकने के लिए अलग से मंत्रालय का गठन किया जाएगा.