राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद आज शिक्षक दिवस के खास मौके पर एक वर्चुअल कार्यक्रम में देश के 44 मेधावी शिक्षकों को सम्‍मानित करेंगे. बता दें कि इसी सप्‍ताह शिक्षा मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव आरसी मीणा ने मेधावी शिक्षकों की लिस्‍ट जारी की थी. कोरोना महामारी के कारण इस साल भी वर्चुअल तरीके से ही इस समारोह को मनाया जा रहा है. कार्यक्रम सुबह साढ़े 10 बजे शुरू होगा और एक घंटे तक चलेगा.

शिक्षा मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव आरसी मीणा ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय कार्य करने वाले 44 शिक्षकों को आज राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्‍ट्रीय शिक्षक पुरस्‍कार से सम्‍मानित करेंगे. इन सभी शिक्षकों का चयन जूरी द्वारा किया गया है. मीणा ने कहा, मैं बताना चाहूंगा कि राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए चयन जिला स्तर पर शुरू होता है, और फिर यह राज्य स्तर पर होता है. अंत में, राष्ट्रीय स्तर पर मेधावी शिक्षकों का चयन किया जाता है और सभी चयनित शिक्षकों को शिक्षक दिवस पर सम्मानित किया जाता है. पिछले साल शिक्षक दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 47 शिक्षकों को सम्मानित किया था. गौरतलब है कि शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार साल 1958 से शुरू किए गए थे. राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्‍कार के लिए आवेदक के शैक्षणिक के अलावा सामाजिक कार्य, एनएसएस, एनसीसी, संस्कृति और समाज के लिए किए गए उल्लेखनीय कामों की जानकारी देनी अनिवार्य है.

बता दें कि शिक्षा मंत्रालय की ओर से आज से शिक्षक पर्व-2021 की शुरुआत भी की जाएगी. ये कार्यक्रम ऑनलाइना आयोजित किया जाएगा और 17 सितंबर तक जारी रहेगा. बता दें कि भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन (5 सितंबर) को भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है. भारत में 1962 से डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के खास मौके को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है.