राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बृहस्पतिवार को चार दिवसीय दौरे पर उत्तर प्रदेश आ रहे हैं. वे आज लखनऊ आ रहे हैं. इसी दिन वह शाम 4.50 बजे बाबा साहब भीमराम आंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेंगे. अगले दिन शुक्रवार को एसजीपीजीआई के दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेंगे.

अगले दिन 28 अगस्त को गोरखपुर में गुरु गोरक्षनाथ उत्तर प्रदेश राज्य आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास और गोरक्षपीठ की ओर से बने महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय का शिलान्यास करने के बाद लखनऊ लौट आएंगे. 29 अगस्त को सुबह नौ बजे स्पेशल प्रेसीडेंसियल ट्रेन से अयोध्या में रामलला के दर्शन के बाद रामायण कॉन्क्लेव का उद्घाटन करेंगे. इसके अगले दिन दिल्ली रवाना हो जाएंगे.

बता दें, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दो दिन विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद वह 29 अगस्त को प्रेसिडेंशियल एक्सप्रेस से चारबाग स्टेशन से अयोध्या जाएंगे. इस दौरान करीब आधा दर्जन ट्रेनें डायवर्ट रहेंगी तथा स्टेशन पर ट्रेनों को बदले हुए प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा.

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के अधिकारियों के मुताबिक ट्रेनों को 29 अगस्त को अयोध्या से लखनऊ रूट के बजाय सुल्तानपुर के रास्ते चलाया जाएगा. साथ ही चारबाग रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को पार्सलघर की ओर से एंट्री दी जाएगी, जहां से वह सीधे प्लेटफॉर्म नंबर दो पर पहुंचेंगे.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की लखनऊ से अयोध्या यात्रा को लेकर ट्रेनों को 29 अगस्त को बदले रूट से चलाने का खाका तैयार कर लिया गया है, हालांकि इस पर अंतिम निर्णय डीआरएम स्तर पर 28 अगस्त को होगा. अधिकारी बताते हैं कि राष्ट्रपति की प्रेसिडेंशियल ट्रेन जब लखनऊ से अयोध्या के बीच रफ्तार भरेगी तो इस दौरान हावड़ा-जम्मूतवी एक्सप्रेस, अयोध्या फैजाबाद, हावड़ा अमृतसर, फैजाबाद एलटीटी सहित करीब आठ ट्रेनों के रूट बदले जाएंगे.

वहीं प्रेसिडेंशियल एक्सप्रेस की रवानगी व वापसी के दौरान चारबाग स्टेशन पर आने वाली ट्रेनों को बदले प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा. 28 अगस्त को दिल्ली से प्रेसिडेंशियल लखनऊ पहुंचेगी. ट्रेन की टेक्निकल जांच रेलवे की टीम करेगी. इसके बाद 29 अगस्त की सुबह राष्ट्रपति इसी ट्रेन से अयोध्या रवाना होंगे. वहीं रेलवे अधिकारियों ने चारबाग रेलवे स्टेशन व लखनऊ से अयोध्या रूट पर सुरक्षा को जो चरणों में परखा.