भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए गए सभी एथलीटों के साथ मुलाकात की और उनसे बात की. उन्होंने इन खिलाड़ियों से स्कूलों में जाकर युवाओं को प्रेरित करने के लिए कहा और साथ ही अभिभावकों से आग्रह किया कि वह युवा पीढ़ी का खेल के क्षेत्र में पूरा समर्थन करें. पीएम मोदी के इस तरह एथलीटों के साथ मुलाकात की पूरे देश में तारीफ हो रही है. सिर्फ टोक्यो ओलंपिक जाने वाले एथलीट ही नहीं, बल्कि दूसरे खेलों से जुड़े लोग भी पीएम की इस पहल की जमकर तारीफ कर रहे हैं. भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र के एथलीटों से मिलने के कदम की जमकर तारीफ की है.

बता दें, कपिल देव ने द स्टेट्समैन में लिखे अपने कॉलम में कहा, ”यह स्पष्ट नहीं है कि भारत के किसी प्रधानमंत्री ने कभी कहा है कि वह हमारे देश में खेल की संस्कृति बनाना चाहते हैं या नहीं और माता-पिता से उन बच्चों को प्रोत्साहित करने की अपील की, जो खेल खेलना चाहते हैं. मोदी जी ऐसा करने वाले पहले हो सकते हैं. प्रधानमंत्री ने न केवल माता-पिता से अपने बच्चों को खेलों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कहा है, बल्कि उन्होंने यह भी प्रदर्शित किया है कि खेलों और हमारे एथलीटों में सक्रिय रुचि लेकर ऐसा कैसे किया जाता है.

कपिल देव ने कहा, ”मोदी जी की नीरज चोपड़ा को चूरमा और पीवी सिंधु को आइसक्रीम परोसते हुए उनकी तस्वीरें वायरल हो सकती हैं. जबकि वे सुखद यादें हैं, मुख्य सबक यह है कि भारत के लोकतंत्र के प्रभारी व्यक्ति मानते हैं कि खेल और खेल संस्कृति महत्वपूर्ण हैं. यही खेल संस्कृति के विकास को बढ़ावा देता है, जो मोदी जी की सबसे बड़ी विरासतों में से एक होगी. एक खिलाड़ी के रूप में, मैं खेल समुदाय को प्रधानमंत्री से प्यार और सपोर्ट प्राप्त करते हुए देखकर बहुत खुश हूं. मैं यह जोड़ना चाहता हूं कि अगर हमें भविष्य में और पदक जीतने हैं तो हमें खेल के बुनियादी ढांचे पर ध्यान देना चाहिए. और खेल के उपकरण पर कोई शुल्क नहीं होना चाहिए जो कि एथलीटों की आवश्यकता होती है. उन्होंने अंत में कहा, ”मोदी जी आपने सभी खेल जगत का दिल जीत लिया. जय हिन्द.”