अफगानिस्तान में तालिबान ने कब्जा कर लिया है. तालिबान के डर से लोग किसी तरह देश छोड़ने की कोशिश में हैं. अफगानिस्तान से निकलने का सिर्फ एक रास्ता खुला है-काबुल एयरपोर्ट. ऐसे में एयरपोर्ट पर भारी भीड़ जमा हो गई है. इस बीच टोलो न्यूज़ के हवाले से बताया गया है कि तालिबानी लड़ाकों ने एयरपोर्ट पर बिना हिजाब पहनी महिलाओं पर फायरिंग की. जिसके जवाब में अमेरिकी सैनिकों ने भी फायरिंग की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फायरिंग में 5 लोगों की मौत की खबर है. हालांकि, तालिबान ने एयरपोर्ट पर गोलीबारी की पुष्टि नहीं की है. फिलहाल एयरपोर्ट अमेरिकी सैनिकों के कंट्रोल में है.

बता दें, काबुल छोड़ने के लिए एयरपोर्ट पर हजारों की तादाद में ऐसे लोग पहुंच गए हैं जिनके पास ना वीजा है और ना टिकट. काबुल में मोबाइल रिचार्ज कराने में लोगों को दिक्कत आ रही है. ऐसे में लोग इंटरनेट और कॉल क्रेडिट इमरजेंसी के लिए बचा रहे हैं. काबुल की सड़कों पर तालिबानी लड़ाके घूम रहे हैं. कई जगहों पर लूटपाट की खबर है. आम नागरिकों को 17 अगस्त सुबह 8 बजे तक अपने घरों में कैद रहने को कहा गया है.

ये वीडियो काबुल इंटरनेशनल एयरपोर्ट का है. विमान पूरी तरह हजारों लोगों से घिरा हुआ है. हवाई जहाज के केबिन के अंदर जाने के लिए जिस सीढ़ी का इस्तेमाल किया जाता है, उस पर लोग जहाज के अंदर जाने के लिए धक्का-मुक्की कर रहे हैं.

हवाई अड्डे पर अमेरिकी सैनिकों ने आज सुबह भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोलियां चलाईं. एक प्रत्यक्षदर्शी ने न्यूज एजेंसी AFP को बताया, “मुझे यहां बहुत डर लग रहा है. वे हवा में ढेर सारी गोलियां चला रहे हैं. “

बता दें, तालिबान ने इस बीच जेलों में बंद खूंखार अपराधियों और आतंकियों को भी रिहा कर दिया है. हालांकि, तालिबान के प्रवक्ता ने लड़ाकों से कहा है कि वो जबरन किसी के घर पर नहीं घुसे.