केंद्र सरकार के कर्मचारी का महंगाई भत्ता बढ़ने के बाद अब असम सरकार ने अपने राज्‍य कर्मचारियों का DA बढ़ाने का ऐलान किया है. इसे 1 जुलाई 2021 से लागू किया गया है. अभी असम सरकार के कर्मचारियों को 17 फीसद के हिसाब से DA मिल रहा है. हिमांता बिसवा सरमा के नेतृत्‍व वाली सरकार ने पेंशनरों की महंगाई राहत बढ़ाने का भी ऐलान किया है. उसे भी अब 28 फीसद कर दिया जाएगा.

बता दें, फाइनेंस मिनिस्‍टर अजंता नियोग ने बताया कि अभी राज्‍य सरकार के कर्मचारियों को 17 फीसद की दर से महंगाई भत्‍ता मिल रहा है. अब 1 जुलाई 2021 से इसे बढ़ाकर 28 फीसद किया जा रहा है. इससे सरकार के ऊपर 200 करोड़ महीने का अतिरिक्‍त बोझ आएगा. इसके साथ ही स्‍टेट कैबिनेट ने 52500 बेरोजगारों को रोजगार देने का ऐलान किया है. इससे पहले सरकार ने 1 साल में 1 लाख युवाओं को नौकरी देने की बात कही थी.

हेल्‍थ मिनिस्‍टर केशब महंता ने physician, Paramedical Personnel और टेक्निकल टीम में 8855 लोगों की भर्ती की बात कही. उनके मुताबिक सितंबर में भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. इसके अलावा हर LAC से 50 युवाओं को ड्राइविंग की ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि 6600 ड्राइवर तैयार किए जा सकें. उनकी ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उन्‍हें ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाएगा.

बता दें कि 14 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक हुई थी. इसमें केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्‍ते (Dearness Allowance) पर लगी रोक का मुद्दा उठा था. मोदी कैबिनेट ने इसे तुरंत क्‍लीयर कर दिया. इससे केंद्रीय कर्मचारियों का DA 11 फीसद बढ़कर 28 फीसद हो गया है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की मानें तो डीए की दर में 11 फीसद की बढ़ोत्‍तरी हुई ह.  इससे अब यह 28 फीसद हो गया है. इससे 48 लाख 34 हजार केंद्रीय कर्मचारियों और 65 लाख 26 हजार पेंशनर्स को सीधा फायदा हुआ है.

जनवरी 2020 में केंद्रीय कर्मचारियों का DA 4% बढ़ा था. फिर दूसरी छमाही में 3% इजाफा हुआ और जनवरी 2021 में फिर 4% बढ़ोतरी हुई। इससे उनका DA कुल 28% पर पहुंच गया है.