स्विगी ने रिलायंस और ब्रिटेन की कंपनी बीपी के ज्वाइंट वेंचर रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड (RMBL) के साथ पूरे भारत में अपने डिलीवरी पार्टनर्स के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल इकोसिस्टम और बैटरी-स्वैपिंग स्टेशन बनाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं.

ट्रायल बेसिस के आधार पर इस साझेदारी से बैटरी ऑपरेटेड इलेक्ट्रिक गाड़ियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। योजना में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स की तैनाती भी शामिल है. इसे जियो बीपी नेटवर्क का बैटरी स्वैप स्टेशन और स्विगी के डिलीवरी पार्टनर्स के नेटवर्क का समर्थन मिलेगा. मौजूदा समय में रिलायंस बीपी के देश में 1,400 पेट्रोल पंप हैं. आगामी पांच वर्षों में इसे 5,500 करने की योजना है.

इस संदर्भ में रिलायंस बीपी मोबिलिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) हरीश सी मेहता ने कहा कि, ‘RMBL एक मजबूत और टिकाऊ बुनियादी ढांचा स्थापित कर रही है. इसमें इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग हब और बैटरी स्वैपिंग स्टेशन शामिल हैं. स्विगी के साथ हमारी साझेदारी देश में वितरण और परिवहन कंपनियों के बीच व्यवधान लाने और इलेक्ट्रिक वाहन अपनाने को बढ़ाने की क्षमता रखता है.’ 

वहीं इस समझौते पर स्विगी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्रीहर्ष मजेटी ने कहा कि, ‘स्विगी कई लाखों ऑर्डर की डिलीवरी करती है. कंपनी के पार्टनर्स रोजाना औसतन 80 से 100 किलोमीटर ट्रैवल करते हैं. इसलिए उनके लिए यह काफी फायदेमंद साबित होगा. इतना ही नहीं, वातावरण के लिए भी यह काफी सुरक्षित होगा. इसका हमारे डिलीवरी पार्टनर और हमारे वातावरण पर अच्छा असर होगा. ये सब अच्छी कमाई भी कर सकेंगे.