भारतीय महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम टोक्यो ओलंपिक से बाहर हो गई हैं. प्री-क्वार्टर फाइनल में उन्हें कोलंबिया की बॉक्सर से हार झेलनी पड़ी. मैरीकॉम को प्री क्‍वार्टर फाइनल में कोलंबिया की बॉक्सर वैलेंसिया से 2-3 से हार मिली. 51 किलो वर्ग के इस मुकाबले में वैलेंसिया ने कमाल का खेल दिखाया. रियो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली वैलेंसिया ने पहला राउंड जीता लेकिन अगले राउंड दोनों राउंड में 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम ने वापसी की. उन्‍होंने अगला दोनों राउंड 3-2 से जीता. पहला पहले राउंड में उनके हार का अंतर काफी अधिक था.

बता दें भारत की ओर से मैरीकॉम भी पदक की बड़ी दावेदार थीं लेकिन ये अनुभवी बॉक्सर टोक्यो में सिर्फ एक जीत ही हासिल कर सकीं और दूसरे मुकाबले में उन्हें हार मिली. हैरानी की बात ये है कि मैरीकॉम ने सपाट नीली बॉक्सिंग जर्सी पहनी हुई थी जिसमें भारत का नाम प्रिंट नहीं था. इसकी वजह अबतक सामने नहीं आई है. बता दें मैरीकॉम ने साल 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. टोक्यो ओलंपिक में भारत की ध्वजवाहक मैरीकॉम ने टोक्यो ओलंपिक के पहले दौर में डोमिनिकन रिपब्लिक की मिगुएला हर्नांडेज को 4-1 से हराया था. वहीं दूसरी ओर वैलेंसिया को पहले दौर में बाई मिली थी.

मैरीकॉम को इस मैच में जीत का दावेदार माना जा रहा था क्योंकि उनकी रैंकिंग वैलेंसिया से बेहतर थी. मैरीकॉम दुनिया की नंबर 7 बॉक्सर हैं वहीं वैलेंसिया की रैंकिंग 11 है. पिछली बार मैरीकॉम और वैलेंसिया की भिड़ंत 2019 में वर्ल्ड चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल के दौरान हुई थी. मैरीकॉम ने वो मुकाबला एकतरफा अंदाज में 5-0 से जीता था लेकिन इस बार वैलेंसिया ने बाजी मार ली.

मैरीकॉम भले ही हार गईं लेकिन दो बॉक्सर मेडल के करीब हैं. 75 किलो वर्ग में पूजा रानी क्वार्टर फाइनल में जगह बना चुकी हैं. एक मुकाबला जीतते ही उनका ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो जाएगा. वहीं 91 किलो वर्ग में सतीश कुमार ने भी क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है. 69 किलो वर्ग में बॉक्सर लवलीना भी मेडल से एक जीत दूर हैं.