राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 12 केंद्रीय विश्वविद्यालयों के वाइस चांसलर की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है. राज्यसभा में इसकी जानकारी शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की ओर से दी गई. केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुल 22 पद कुलपति के रिक्त पड़े थे. जिनमें से 12 कुलपतियों की नियुक्ति को मंजूरी दे दी गई है. राज्यसभा में गुरुवार को इसकी जानकारी देते हुए शिक्षा मंत्री धमेंद्र प्रधान ने बताया कि विश्वविद्यालय में कुलपति की नियुक्ति एक लंबी चलने वाली प्रक्रिया है.

इस संबंध में नोटिफिकेशन आज जारी कर दिया गया है. नोटिफिकेशन के मुताबिक, उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति रहे कामेश्वर नाथ सिंह को अब साउथ बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटीज का वीसी नियुक्त किया गया है. जिन 12 विश्वविद्यालयों में नए कुलपति नियुक्त किए गए हैं, उनमें सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हरियाणा, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ जम्मू, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ झारखंड, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ कर्नाटक, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ तमिलनाडु, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार, नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी, गुरु घासीदास यूनिवर्सिटी, मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद और मणिपुर यूनिवर्सिटी शामिल हैं.

बता दें कि फिलहाल दिल्ली विश्वविद्यालय, बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय जैसे बड़े विश्वविद्यालय बिना किसी रेग्युलर वाइस चांसलर के चल रहे हैं.