हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह का 87 साल की उम्र में लंबी बीमारी से जूझने के बाद आज सुबह निधन हो गया. चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक राज, आईजीएमसी, शिमला ने ये जानकारी दी. उन्होंने बताया कि सुबह करीब 4 बजे मल्टी ऑर्गन फेलियर के कारण उनका निधन हुआ. इससे पहले वीरभद्र सिंह कोरोना से भी पीड़ित थे.

वहीं, उनके परिवार के प्रवक्ता ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार शनिवार को यहां रामपुर में किया जाएगा. प्रवक्ता यशवंत छाजता ने बताया कि 10 जुलाई को दोपहर तीन बजे रामपुर में अंतिम संस्कार किया जाएगा. बता दें, सिंह के पार्थिव शरीर को उनके निजी आवास जाखू, शिमला में हॉली लॉज में रखा गया है.

वहीं, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने उनके पार्थिव शरीर पर श्रद्धांजलि अर्पित की, अकेला सीपीएम विधायक राकेश सिंघा, कई अन्य राजनीतिक नेता और पूर्व मुख्यमंत्री के हजारों समर्थकों ने भी उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए होली लॉज का दौरा किया. वही प्रवक्ता छजता ने बताया कि शुक्रवार को पार्थिव शरीर को रिज मैदान में जनता के लिए ‘अंतिम दर्शन’ के लिए सुबह 9 बजे से 11.30 बजे तक रखा जाएगा.

इसके बाद इसे शिमला के कार्ट रोड स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन ले जाया जाएगा जहां यह सुबह 11 बजकर 40 मिनट से दोपहर एक बजे तक रहेगा. परिवार के प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद दोपहर एक बजे पार्थिव शरीर को सड़क मार्ग से रामपुर ले जाया जाएगा और शाम छह बजे पदम पैलेस रामपुर पहुंचने का कार्यक्रम है. उन्होंने बताया कि शनिवार को पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए पदम पैलेस रामपुर में सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक अंतिम संस्कार से पहले तीन बजे रखा जाएगा.