‘द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया’ ने जुलाई 2021 प्रस्तावित सीए फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल प्रोग्राम की परीक्षाओं को लेकर आज 28 जून 2021 को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सीए परीक्षाओं के लिए रजिस्टर्ड 3.7 लाख उम्मीदवारों में से 2.8 उम्मीदवार परीक्षाएं देना चाहते हैं. संस्थान ने उच्चतम न्यायालय को बताया कि इन उम्मीदवारों ने सीए परीक्षाओं के लिए अपने ऐडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिए हैं.

आपको बता दें, देशभर से हजारों उम्मीदवार परीक्षा में जरूरी बदलावों की मांग कर रहे हैं. इस संदर्भ में करीब 6000 अभ्यर्थियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है. वही, सीए स्टूडेंट्स की ओर से सुप्रीम कोर्ट में लगाई गई याचिका में कई मांगें रखी गई हैं, जिसमें पहली मांग है कि परीक्षा स्थगित की जाए, दूसरी मांग में ओल्ड कोर्स के लिए सीए इंटर एग्जाम और सीए फाइनल एग्जाम के लिए एक और अटेंप्ट दिया जाए, तीसरी मांग यह है कि एग्जाम ऑप्ट आउट करने का विकल्प सभी स्टूडेंट्स के लिए ओपन रखा जाए, चौथी मांग में परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाए हर जिले में कम से कम एक परीक्षा केंद्र बनाया जाए, और पांचवीं मांग में स्टूडेंट्स ने शर्ते रखी है कि परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड को ई-पास की तरह प्रयोग किया जा सके. आईसीएआई एग्जाम सेंटर तक पहुंचने के लिए स्टूडेंट्स की यात्रा और ठहरने की व्यवस्था करे.

गौरतलब है कि ‘द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया’ जुलाई 2021 की सीए परीक्षाएं देने जा रहे ऐसे स्टूडेंट्स को ऑप्ट-आउट का विकल्प पहले ही दे दिया है, जो कि स्वयं या उनके परिवार के कोई सदस्य कोविड-19 से संक्रमित हैं. लेकिन इसमें शर्तें पूरी करने वाले स्टूडेंट्स ही ऑप्ट-आउट ऑप्शन का लाभ ले सकते हैं और जुलाई की जगह नवंबर 2021 की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं.

फिलहाल निर्धारित शेड्यूल के अनुसार सीए इंटर और फाइनल एग्जाम्स 05 जुलाई से 20 जुलाई तक होने हैं. जबकि सीए फाउंडेशन एग्जाम 2021 का आयोजन 24 जुलाई से लेकर 30 जुलाई तक किया जाने वाला है. सभी मांगों पर सुप्रीम कोर्ट 28 जून को सुनवाई करने वाला था लेकिन इसे मंगलवार, 29 जून के लिए स्थगित कर दिया गया है.