तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने की मांग एवं एमएसपी पर न्यूनतम मूल्य की खरीद गारंटी को लेकर गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए आज शाम नागल से किसान रवाना होंगे. भाकियू प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी विनय कुमार ने बताया कि सहारनपुर जिले से करीब 15 ट्रैक्टर-ट्रॉली रवाना होंगी. इसके साथ ही किसान अपने निजी वाहनों से भी गाजीपुर के लिए कूच करेंगे. वहीं मुजफ्फरनगर और मेरठ से भी किसान आंदोलन में शामिल होंगे.

गौरतलब है कि कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले सात महीने से चल रहे किसान आंदोलन को तेज करने के तहत भारतीय किसान यूनियन की किसान ट्रैक्टर यात्रा गुरुवार (आज) से शुरू होग. सिसौली से भाकियू अध्यक्ष यात्रा का शुभारंभ करेंगे, जबकि एक गुट सहारनपुर से यात्रा की शुरुआत करेगा.

पिछले करीब सात माह से गाजीपुर बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन में तेजी लाने के लिए भाकियू ने गुरुवार (आज) से किसान ट्रैक्टर यात्रा निकालने की घोषणा की हुई है. आपको बता दें, भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत के नेतृत्व में यह यात्रा सिसौली के किसान भवन से प्रारंभ होगी. वहीं, भाकियू का एक गुट जनपद सहारनपुर से शुभारंभ करेगा, जो हाईवे होते हुए शाम चार बजे मंसूरपुर पहुंचेगी. यहां सिसौली से यात्रा का नेतृत्व कर रहे चौधरी नरेश टिकैत भी शाम चार बजे पहुंचेंगे, जिसके बाद भाकियू अध्यक्ष के नेतृत्व में ही किसान ट्रैक्टर यात्रा हाईवे से होते हुए गाजीपुर बॉर्डर के लिए प्रस्थान करेगी.

वहीं गुरुवार रात किसान ट्रैक्टर यात्रा दिल्ली-दून नेशनल हाईवे पर मेरठ के सिवाया टोल प्लाजा पर रात्रि विश्राम करेगी, जिसके बाद 25 जून को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचेंगे. चौधरी नरेश टिकैत ने बताया कि यात्रा में हजारों किसान अपने ट्रैक्टरों के साथ शामिल होंगे. सभी ट्रैक्टर पूर्णतया अनुशासन में चलते हुए गंतव्य की ओर बढ़ेंगे, ताकि किसी भी मुसाफिर को परेशानी का सामना न करना पड़े. रास्ते में अलग-अलग पड़ाव पर उस क्षेत्र के किसान भी अपने ट्रैक्टर के साथ जुड़ते चले जाएंगे. उन्होंने यात्रा के दौरान अनुशासन तोड़ने वाले किसानों को बर्दाश्त नहीं करने की भी बात कही है.