देश की राजधानी दिल्‍ली में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के मंद पड़ने के साथ अनलॉक का चौथा चरण (Unlock 4.0) चल रहा है. हालांकि अनलॉक के बाद सभी बाजार, मॉल्‍स, रेस्‍टोरेंट, ऑफिस आदि खुलने के बाद दिल्ली मेट्रो पर लगातार यात्रियों का दबाव बढ़ रहा है. इस वजह से हर रोज मेट्रो स्टेशनों के बाहर लोगों की लंबी-लंबी कतारें लगी देखी जा सकती हैं.

दिल्‍ली मेट्रो स्‍टेशन के बाहर लंबी कतारें लगने के कारण कई इंटरचेंज स्टेशनों पर औसतन प्रतीक्षा समय बढ़ रहा है. खासकर पीक आवर यानी सुबह और शाम लोगों को बहुत दिक्कत आ रही है. इसके अलावा कई बार तो मेट्रो स्टेशनों को भी बंद करना पड़ जाता है.

राजधानी दिल्ली में बुधवार को राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर पीक आवर में यात्रियों के लिए औसतन प्रतीक्षा समय एक घंटा 20 मिनट रहा. इससे पहले यह एक घंटा था. इस बाबत दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. डीएमआरसी ने ट्वीट में लिखा,’भीड़ कम होने पर प्रतीक्षा समय में बदलाव होने पर यात्रियों को जानकारी दी जाएगी. इसका मकसद कोरोना वायरस संक्रमण के दौर में लोगों की यात्रा आसान और सुरक्षित बनाना है.


बता दें कि दिल्‍ली में कोरोना के मामले लगातार कम हो रहे हैं, लेकिन दिल्ली मेट्रो यात्रियों की 50 फीसदी क्षमता के साथ ही चल रही है. इस समय मेट्रो कोचों में यात्रियों को एक सीट छोड़कर ही बैठने की अनुमति है. जबकि मेट्रो में इस समय खड़े होकर यात्रा करने पर पूरी तरह से पाबंदी है. इसके अलावा मेट्रो स्‍टेशन पर प्रवेश करते समय यात्रियों की जांच व सैनिटाइजेशन करके ही प्रवेश दिया जा रहा है. वहीं, सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्क के नियम का पालन नहीं करने पर यात्रियों पर 200 रुपये जुर्माना लगाया जा रहा है.